प्रदेश के 31277 युवाओं की मनेगी दिवाली, बने सरकारी शिक्षक

-5 अभ्यर्थियों को योगी ने सौंपा पत्र
-68 जिलों में सांसद, विधायक और मंत्रियों ने बांटी नौकरी

By: Neeraj Patel

Published: 16 Oct 2020, 04:00 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उप्र के 31277 बेरोजगार युवक सरकारी शिक्षक बन गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 69000 सहायक शिक्षकों की भर्ती के पहले चरण में चुने गए 31,277 अभ्यर्थियों को शुक्रवार को ज्वॉइनिंग लेटर देकर इसकी शुरुआत की। अपने आवास पर उन्होंने प्रतीकात्मक रूप में 5 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र सौपे। इसके बाद प्रभारी मंत्री, सांसद और विधायकों द्वारा 68 जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में बाकी अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए गए।

बेसिक शिक्षा परिषद ने 31,277 सफल अभ्यर्थियों की सूची 12 अक्टूबर को जारी कर दी थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 69000 शिक्षक भर्ती के पहले चरण में शुक्रवार को पत्र दिए गए। वहीं, सेकेन्ड्री एजुकेशन डिपार्टमेंट में 10768 सहायक अध्यापक भर्ती में लोक सेवा आयोग से चयनित 3317 कैंडिडेट को अभी ऑनलाइन नियुक्ति पत्र नहीं दिया जाएगा। विभाग ने मुख्यमंत्री के हाथों नियुक्ति पत्र वितरण के लिए समय मांगा है।

आरक्षण के मानक का पूरी तरह पालन

इस मौके पर योगी आदित्यनीथ ने कहा कि पिछली सरकार ने शिक्षा मित्रों की योग्यता का उपयोग नहीं किया, बल्कि शॉर्टकट अपनाया। इससे शिक्षा मित्रों को परेशानी हुई। साथ ही, सीएम ने कहा कि भर्ती में आरक्षण के मानक का पूरी तरह पालन किया गया है। यह आंकड़ों में देखा जा सकता है।

शेष शिक्षकों को भी जल्द मिलेगी ज्वाइनिंग

सीएम योगी ने कहा कि युवाओं की ऊर्जा का उपयोग बेसिक शिक्षा विभाग के विकास में किया जाएगा। पहले 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती में 46 हजार शिक्षकों का चयन किया। फिर 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती की। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की चयन प्रक्रिया में कहीं खोट नहीं था। शेष शिक्षकों को भी जल्द नियुक्ति दिलाने का प्रयास किया जा रहा है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned