सरकार ने लिया बड़ा फैसला, 7 हजार अनुसूचित जनजाति विद्यार्थियों के शुल्क की होगी पूरी भरपाई

सरकार ने लिया बड़ा फैसला, 7 हजार अनुसूचित जनजाति विद्यार्थियों के शुल्क की होगी पूरी भरपाई

Neeraj Patel | Updated: 12 May 2019, 03:46:26 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

अनुसूचित जनजाति के 7 हजार विद्यार्थियों को जल्द ही छात्रवृति के साथ-साथ शुल्क की भी पूरी भरपाई होगी।

लखनऊ. अनुसूचित जनजाति के 7 हजार विद्यार्थियों को जल्द ही छात्रवृति के साथ-साथ शुल्क की भी पूरी भरपाई होगी। इसके लिए केंद्रीय जनजातीय कल्याण विभाग ने प्रदेश सरकार से ब्योरा मांगा है। इन विद्यार्थियों को योजना का लाभ देने के लिए करीब 10 लाख रूपये की जरूरत हैं। प्रदेश में ढाई लाख रूपये सालाना आमदनी वाले एसटी वर्ग के परिवारों के विद्यार्थियों के लिए छात्रवृत्ति के साथ शूल्क भरपाई का प्रावधान रखा गया हैं।

इसके तहत सत्र 2018-19 में 15630 विद्यार्थियों के लिए 13.80 करोंड रूपये का भुगतान किया गया था। बजट समाप्त हो जाने के कारण 7 लाख विद्यार्थियों को योजना का लाभ नहीं मिल सका। इन विद्यार्थियों को योजना का लाभ देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा हरसाल बजट उपलब्ध कराया जाता है।

विद्यार्थियों को योजना का लाभ देने के लिए प्रदेश के जनजातीय कल्याण विभाग ने पूरी स्थिति द्वारा केंद्रीय जनजातीय कार्यालय मंत्रालय को अवगत करा दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार द्वारा जल्द ही बजट देने का आश्वासन मिला है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned