LAC पर सैनिकों की शहादत पर अखिलेश ने कहा अब तो सच बोले सरकार, माया ने कहा- पूरा देश एकजुट

- समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष Akhilesh Yadav ने कहा, केंद्र सरकार चीन की चेतावनी को लेकर उदासीन
- बसपा प्रमुख Mayawati ने कहा, इस नाजुक मौके पर पूरा देश एकजुट है

By: Hariom Dwivedi

Published: 17 Jun 2020, 01:26 PM IST

लखनऊ. पूर्वी लद्दाख में गलवा घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प (India China Standoff) में शहीद हुए 20 भारतीय सैनिकों की शहादत पर यूपी के प्रमुख राजनीतिक दलों ने दुख जताया है। बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने कहा कि इस नाजुक मौके पर पूरा देश एकजुट है। जबकि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि कि केंद्र सरकार (Central Government) चीन की चेतावनी को लेकर उदासीन बनी हुई है। उसे सच्चाई जनता को बतानी चाहिए।

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने चीन के साथ झड़प में कर्नल समेत 20 भारतीय सैनिकों की शहादत की खबर पर दुख जताया है। उन्होंने कहा है कि ऐसे नाजुक समय में पूरा देश एकजुट है। अब सरकार को जनता की उम्मीद पर खरा उतरना है। उन्होंने कहा सरकार को अत्याधिक सतर्कता और सूझबूझ से देशहित में कदम उठाने की जरूरत है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि लद्दाख क्षेत्र में 20 भारतीय सैनिकों के शहादत अति दुखद और झकझोर देने वाली घटना है, खासकर तब जब भारत सरकार दोनों देशों के बीच सीमा विवाद और तनाव को कम करने में प्रयासरत है। देश को विश्वास है भारत सरकार देश की आन, बान व शान के हिसाब से सही समय पर सही फैसला लेगी व देश का एक इंच जमीन भी किसी को कभी हड़पने नहीं देगी।

सच तो बोले सरकार : अखिलेश यादव
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चीन के साथ झड़प में शहीद हुए भारतीय सैनिकों पर दुख जताते हुए कहा कि चीन की तरफ़ से ख़तरे और चुनौती को लेकर पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने ने समय-समय पर सरकारों को चेताया है। लेकिन, सरकार चीन की चेतावनी को लेकर उदासीन है। आखिर केंद्र सरकार इसका जवाब कब देगी? उन्होंने कहा है-सरकार अब तो सच बोले। देश में पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों पर भी सपा नेता ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि भारत सरकार डीजल-पेट्रोल पर मनमानी वृद्धि करने की आदी हो गई। अंतरराष्ट्रीय कीमतों में गिरावट आने के बावजूद भी देश में दाम में कमी नहीं होती। उन्होंने कहा कि विश्व में पेट्रोल-डीजल पर भारत में सबसे ज्यादा 279 प्रतिशत टैक्स वसूला जा रहा है. जबकि अमेरिका में 19 प्रतिशत, ब्रिटेन में 47 प्रतिशत, फ्रांस में 39 प्रतिशत टैक्स है।

BJP
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned