अखिलेश यादव ने भाजपा को लेकर आया सबसे बड़ा बयान, कानून-व्यवस्था को लेकर कहा यह, बीजेपी में मची हलचल

अखिलेश यादव ने भाजपा को लेकर आया सबसे बड़ा बयान, कानून-व्यवस्था को लेकर कहा यह, बीजेपी में मची हलचल
अखिलेश यादव ने भाजपा को लेकर आया सबसे बड़ा बयान, कानून-व्यवस्था को लेकर कहा यह, बीजेपी में मची हलचल

Neeraj Patel | Updated: 23 Sep 2019, 10:47:03 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी को निशाने पर लेकर बड़ा बयान दिया है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी को निशाने पर लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार प्रशासन पर अपना नियंत्रण पूरी तरह खो चुकी है। समाज का हर वर्ग असंतुष्ट और आक्रोशित दिखाई दे रहा है। कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। हर तरफ अव्यवस्था, अशांति और अराजकता ही दिखाई दे रही है। अखिलेश ने अपना बयान देते हुए कहा कि सपा सरकार में अपराध पर नियंत्रण के लिए यूपी 100 पुलिस सेवा उपलब्ध कराई गई थी। भाजपा सरकार में वह लगभग निष्प्रभावी हो गई है। यूपी अब हत्या प्रदेश बन गया है। स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हो गई हैं। राज्य में बाढ़ और बारिश से बेहाल लोगों की कोई सुध लेने वाला भी कोई नहीं है और न ही उनकी ओर कोई ध्यान दिया जा रहा है।

अखिलेस यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में मरीजों, घायलों के लिए 108 और प्रसूताओं को अस्पताल लाने ले-जाने के लिए 102 एंबुलेंस सेवा शुरूआत की थी। भाजपा सरकार के सत्ता में आते ही इन सेवाओं के दुर्दिन शुरू हो गए। इसके चालकों को दिहाड़ी मजदूर बना दिया गया है। संविदा कर्मचारी आए दिन हड़ताल पर चले जाते हैं और मरीजों को जो सुविधा मिलनी चाहिए वह नहीं मिल पाती है। ऐसे में मरीजों की होने वाली मौतों के लिए जिम्मेदार भी भाजपा सरकार ही हैं।

आयुष्मान के लाभार्थियों को नहीं मिल रहा लाभ

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने कहा, सरकार की आयुष्मान योजना भी फेल होते दिखाई दे रही है। गरीब व लाभार्थी अस्पतालों में भटकते हुए नजर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री का यह कहना निराधार है कि पहले मरीज इलाज के लिए भटकते रहते थे। सच तो यह है कि सपा सरकार के समय अस्पतालों में इलाज और दवाइयां मुफ्त में दी जातीं थीं। गंभीर बीमारियों कैंसर, किडनी, दिल और लीवर तक के मुफ्त इलाज की व्यवस्था भी थी। लखनऊ में कैंसर अस्पताल की स्थापना सपा सरकार ने ही की थी। सभी जांचें निशुल्क होती थीं लोकिन अब ऐसा नहीं है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned