फिर बोले अखिलेश- सपाइयों का काम बोलता है, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर दिया बड़ा बयान

Hariom Dwivedi

Publish: Jul, 14 2018 12:28:45 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
फिर बोले अखिलेश- सपाइयों का काम बोलता है, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर दिया बड़ा बयान

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन पर अखिलेश यादव ने बीजेपी पर निशाना साधा है...

लखनऊ. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन पर अखिलेश यादव ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यह समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे था, जिसे भाजपाइयों ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे कर दिया है। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी वाले जनता को धोखा दे रहे हैं। इनके पास बताने को कोई काम नहीं है, वह केवल शिलान्यास का शिलान्यास और उद्घाटन का उद्घाटन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं पहले ही कहता था कि सपा का काम बोलता है, आज फिर कहता हूं कि समाजवादियों का आज भी काम बोल रहा है।

अखिलेश यादव ने कहा कि हमने जो लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे बनवाया था, उसमें दावा किया गया था एक गिलास पानी गाड़ी में रख लो नहीं छलेकेगा, लेकिन बीजेपी वाले कास्ट कटिंग के नाम पर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की क्वालिटी खराब कर रहे हैं। जनता को धोखा देने के लिये बीजेपी वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे कीमत कम दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर पूरा हिसाब देखा जाये तो भाजपा वाले सपाइयों से महंगा एक्सप्रेस-वे बना रहे हैं।

सबसे ज्यादा खुश सपाई : अखिलेश
उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास से सबसे ज्यादा सपाइयों को गर्व और खुशी है, लेकिन दुख इस बात का है कि इन्होंने आठ लेन वाले एक्सप्रेस-वे को छह लेन कर दिया। लाइटें हटवा दीं। शौचालय की व्यवस्था तक नहीं कर रहे हैं। इसलिये अब इसे कम कीमत में तैयार करवाने की बात कह रहे हैं।

बीजेपी के पास अपना बताने को कुछ नहीं : अखिलेश
अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के पास अपना बताने को कुछ नहीं है। वह उद्घाटनों का उद्घाटन और शिलान्यासों का शिलान्यास कर रहे हैं। सपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी सरकार के पास बताने को कुछ नहीं हैं। हमारी सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिये 90 फीसदी जमीन ले ली थी, जिसे किसानों ने हंसते हुए दिया था।

बीजेपी पर निशाना
योगी सरकार पर निशाना साधते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में नदियां मर रही हैं। महिलाएं और बच्चियां तक सुरक्षित नहीं हैं। छात्र-युवा मायूस हैं। शिक्षा मंहगी हो गई है। व्यापारिक एवं औद्योगिक संस्थानों में कर्मचारियों की छंटनी हो रही है। पूंजी निवेश की बातें सिर्फ हवा-हवाई हैं। मंहगाई से लोग त्रस्त हैं। युवा रोजगार के लिये भटक रहे हैं। उनका भविष्य दांव पर है। अखिलेश यादव ने सवाल उठाते हुए पूछा कि इन सबके सपनों को तोड़ने का दोषी कौन है? सपा प्रमुख ने कहा कि ऐसे में सिर्फ समाजवादी विचारधारा ही रास्ता दिखा सकती है।

Ad Block is Banned