राजधानी में पहली बार सम्मेद शिखर की विशाल झांकी

राजधानी में पहली बार सम्मेद शिखर की विशाल झांकी

Ritesh Singh | Publish: Aug, 08 2019 08:02:03 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

डालीगंज जैन मन्दिर महामंडल विधान शुरु

लखनऊ। जैन समाज की प्रमुख पूजा ‘‘श्री 1008 सम्मेद शिखर महामंडल विधान’’ गुरुवार से डालीगंज जैन मन्दिर में मुनि विशोक सागर महाराज के सानिध्य में शुरु हुई। दिल्ली के प्रतिष्ठाचार्य राज किंग जैन ने पूरे भक्तिभाव और नृत्य के माध्यम से विधान कराया। सर्वप्रथम विधान मंडप की स्थापना हुई जिस पर मुख्य मंगल कलश चार कोनों के कलश सहित 11 कलश के साथ अखंड ज्योति प्रज्ज्वलित की गई। मूलनायक भगवान 1008 पार्श्वनाथ भगवान के सिंहासन पर प्रतिमा स्थापित की गई। कलावे से मंडप सजाया गया। सौधर्म इंद्र अशोक जैन व अन्य पूजा पात्रों मे संजीव जैन, विनय जैन, सुनील जैन, इंजीनियर पीके जैन समेत 50 लोगों ने भाग लिया। सम्मेद शिखर विधान दो टोको की पूजा हुई। आदिनाथ भगवान व अजीत नाथ भगवान की पूजा हुई। मंडप पर श्रीफल सहित अर्घ अर्पित किए गए।

राजधानी में पहली बार सम्मेद शिखर की विशाल झांकी

राजधानी में प्रथम बार मुनि विशोक सागर महाराज के आदेश पर 24 भगवान की आदिनाथ भगवान से लेकर महावीर स्वामी तक, गौतम गणधर की टोक, जल मंदिर, चोपड़ा कुंड समेत 27 मन्दिर की रचना की गई है। झांकी की शुरुआत मन्दिर प्रांगण में बने मानस स्थल से लेकर मंदिर के शिखर तक पहाड़ के रूप में दर्शाई गई है। इस झांकी को लेकर पूरे अवध में उत्साह की लहर है।

झांकी 108 फुट ऊंची और 60 फुट चैड़ी सम्मेद शिखर की विशाल झांकी तैयार की गई है। पहाड़ के रुप में तैयार झांकी को देश के क्षेत्रों से करीब 50 कारीगरों ने तैयार किया है। इस शिखर में झारखंड राज्य के गिरीडीह जिले में बने शिखर जो विश्व का सबसे महत्वपूर्ण जैन तीर्थ स्थल है। उसे कारीगरों ने बनाने का प्रयास किया है। झांकी में 27 मन्दिर भी बनाये गये है। सम्मेद शिखर के रूप में चर्चित इस पुण्य क्षेत्र में जैन धर्म के 24 में से 20 तीर्थंकरों ने मोक्ष की प्राप्ति किया। यहीं 23 वें तीर्थकर भगवान पाश्र्वनाथ ने भी निर्वाण प्राप्त किया था। पहाड पर बने शिखर झारखंड का सबसे ऊंचा स्थान है। संयोजक संजीव जैन ने बताया कि झांकी के दर्शन 15 अगस्त तक होंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned