Bullet Train: अयोध्या से दिल्ली तक चलेगी बुलेट ट्रेन, 320 किमी प्रति घंटे होगी रफ़्तार

Bullet Train: अयोध्या में श्री राम इंटरनेशनल एयरपोर्ट के सामने बुलेट ट्रेन स्टेशन बनाने की तैयारी।

लखनऊ. Bullet Train: दिल्ली से वाराणसी बुलेट ट्रेन राम नगरी अयोध्या को भी जोड़ेगी। राजधानी दिल्ली से 320 किलोमीटर की स्पीड से बुलेट ट्रेन के जरिये अयोध्या पहुंचा जा सकेगा। इस परियाेजना पर तेजी से काम चल रहा है। 'नेशनल हाई स्पीड रेल कार्पोरेशन लिमिटेड' ने अयोध्या में बुलेट ट्रेन के लिये जमीन भी लगभग फाइल कर ली है। जल्द ही इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार होगी। बुलेट ट्रेन के आने से अयोध्या को विश्व पटल पर धार्मिक नगरी और विश्व स्तरीय पर्यटन सिटी के रूप में विकसित करने की सरकार की योजना को भी इससे पंख लेगेंगे।


'एनएचएसआरसीएल' ने देखी जमीन

लखनऊ से अयोध्या के बीच लिंक के सेवा के तहत बुलेट ट्रेल चलाई जाएगी। इसके लिये 130 किलोमीटर रेल की पटरियां बिछेंगी। 'एनएचएसआरसीएल' (NHSRCL) की टेक्निकल टीम ने इसके लिये अयोध्या पहुंचकर वहां जमीन देख ली है। भूमि का भौतिक सत्यापन करने के साथ ही जरूरी सर्वे भी किया गया। टीम ने अयोध्या विकास प्राधिकरण (Ayodhya developement Athaurity) के साथ बैठक की और पावर प्वाइंटर प्रजेंटेशन के जरिये योजना के लिये चल रही पूरी कवायद समझायी।


श्रीराम एयरपोर्ट के पास बनेगा बुलेट ट्रेन स्टेशन

अयोध्या में बुलेट ट्रेन के स्टेशन के लिये 'नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड' की टीम ने प्रस्तावित श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Shri Ram International Airport Ayodhya) के आसपास की जमीन देखी है। अयोध्या बुलेट ट्रेन स्टेशन (Ayodhya Bullet Train Station) एयरपोर्ट के सामने लखनऊ-गोरखपुर हाइवे (Lucknow Gorakhpur Highway) पर बनाया जा सकता है। कहा जा रहा है कि एयरपोर्ट अथाॅरिटी (Airport Athaurity) से एनओसी लेने की कवायद भी चल रही है। इससे विदेश से सीधे अयोध्या आने वाले बुलेट ट्रेन से दिल्ली जा सकेंगे। उधर नोएडा में बुलेट ट्रेन स्टेशन (NOIDA Bullet Train Station) नोएडा में निर्माणाधीन जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट टर्मिनल (Jewar International Airport) में ही होगा। अयोध्या के लिये बनने वाले बुलेट ट्रेन को भी नोएडा के जेवर एयरपोर्ट (Noida International Airport) से जोड़ने का प्लान है।


अयोध्या बनेगी वर्ल्ड क्लास टूरिस्ट सिटी

अयोध्या में एक तरफ जहां आस्था का केंद्र राम मंदिर निर्माण का काम तेजी से चल रहा है, तो वहीं दूसरी ओर केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर अयोध्या को वर्ल्ड क्लास टूरिस्ट सिटी (Ayodhya World Class Tourist City) बनाने के लिये काम कर रही हैं। यहां भगवान राम के नाम पर श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाया जा रहा है। इसके लिये भूमि अधिग्रहण () का काम अंतिम दौर में चल रहा है। रिंग रोड (Ring Road) और 84 काेसी परिक्रमा मार्ग (84 Kosi Parikrama Road Ayodhya) बनाया जाना है। सरयूू में क्रूज (Cruise in Saryu River) चलाया जाएगा और सी प्लेन (Sea Plane Ayodhya) उड़ाने की योजना भी है। कनेक्टिविटी (Connectivity) के लिये चौड़ी सड़कें बनायी जा रही हैं और सड़कों का चौड़ीकरण भी हो रहा है। इसके अलावा और तमाम योजनाओं पर काम चल रहा है।


रेल मंत्रालय को जल्द सौंपा जाएगा डीपीआर

दिल्ली से वाराणसी तक प्रस्तावित बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर तेजी से काम चल रहा है। इससे अयोध्या को भी कनेक्ट किया जाएगा। इसके लिये जमीन का चयन किया जा रहा है। एरियल लिडार सर्वे (Aerial Lidar Survey) भी शुरू हो चुका है। जल्द ही सारी कवायद पूरी करके 'एनएचएसआरसीएल' एक विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट रेल मंत्रालय (Rail Ministry) को सौंपेगी। वहां से डीपीआर (DPR) मंजूर किये जाने के बाद अयोध्या में बुलेट ट्रेन का सपना साकार होने के लिये आकार लेने लगेगा। दिल्ली से वाराणसी वाया, आगरा, लखनऊ बुलेट ट्रेन के लयिे कुल 941.5 किलोमीटर रेल की पटरी बिछायी जानी है। जबकि दूसरी ओर अयोध्या के लिये लिंक सेवा के तहत 130 किलोमीटर ट्रैक बनेगा। बुलेट ट्रेन परियोजना 2030 तक पूरा कर लिये जाने का लक्ष्य है। अयोध्या के लिये 2047 विजय डाॅक्यूमेंट तैयार कराया जा रहा है। इसे ग्लोबल कंसल्टेंट एजेंसी 'ली एसोसिएट साउथ एशिया प्राइवेट लिममिटेड’ तैयार कर रही है।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned