scriptBureaucracy Transfer Policy in Uttar Pradesh Yogi Changes IAS in UP | सरकार ने बनाई IAS रिटायरमेंट की नई पॉलिसी, 5 सीनियर आईएएस की लिस्ट तैयार | Patrika News

सरकार ने बनाई IAS रिटायरमेंट की नई पॉलिसी, 5 सीनियर आईएएस की लिस्ट तैयार

उत्तर प्रदेश सरकार की ब्यूरोक्रेसी और अधिकारियों के ऊपर लगातार जनता से दूरी बनाने का आरोप लगता रहा है। जनता से जुड़े मुख्य मुद्दों से जिस तरह के अधिकारियों ने योगी की पहली सरकार में किनारा किया था, उससे इस बार सबक लेते हुए बड़े बदलाव की तैयारी की जा रही है, जिसमें काम नहीं करने वाले, लटकाने वाले या टालने वाले अधिकारियों को लेकर सरकार ने रिटायरमेंट की नई पॉलिसी बनाई है।

लखनऊ

Updated: April 30, 2022 02:47:49 pm

योगी सरकार के पहले कार्यकाल शुरू किया गया 'जबरन रिटायरमेंट' अब ब्यूरोक्रेसी पर भी देखने को मिल सकता है। वहीं, ट्रांसफर में भी ब्यूरोक्रेसी को एक बड़ा झटका लगेगा क्योंकि माना जाता है कि ब्यूरोक्रेसी उत्तर प्रदेश सरकार पर हमेशा से हावी रहती है। लेकिन इस बार ऐसा नहीं होने जा रहा है क्योंकि आईएएस, आईपीएस, पीसीएस जैसे अधिकारियों की लॉबी को तोड़ने का मन बाबा ने बना लिया है।
CM Yogi Adityanath File Photo
CM Yogi Adityanath File Photo
जिले से लेकर राज्य मुख्यालय तक तैयार हो रही लिस्ट

उत्तर प्रदेश की नौकरशाही में बड़े बदलाव हो सकते हैं। जिला स्तर से शासन में उच्च स्तर पर बड़े बदलाव किए जा सकते हैं। जिलों और मंडलों में वर्षों से जमे अफसरों को इधर-उधर ट्रांसफर किया जा सकता है। पांच सीनियर आईएएस अफसरों का तबादला होने जा रहा है, जिसके बाद राज्य सरकार खाली पदों में नियुक्ति करेगी।
यह अफसर हो रहे रिटायर

रिटायर हो रहे हैं अफसरों में राज्य के कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, राजस्व परिषद के अध्यक्ष मुकुल सिंघल, नई दिल्ली में तैनात राज्य आयुक्त प्रभात सारंगी, अतिरिक्त मुख्य सचिव बागवानी और खाद्य प्रसंस्करण एमबीएस रामा रेड्डी और सचिव उच्च शिक्षा शमीम अहमद खान शामिल हैं। बता दें कि आलोक सिन्हा के पास अपर मुख्य सचिव ऊर्जा और अतिरिक्त ऊर्जा संसाधन विभाग का प्रभार था। ऐसे में राज्य में मौजूदा बिजली संकट को देखते हुए राज्य सरकार किसी सीनियर को पद पर नियुक्ति दे सकती है। इसी तरह राजस्व परिषद के अध्यक्ष के पद पर भी किसी सीनियर अफसर की नियुक्ति की जाएगी।
यह भी पढ़ें

संजय निषाद का विवादित बयान- बोले हिंदी नहीं बोलने वालों के लिए देश में जगह नहीं, छोड़ देना चाहिए भारत

बदले जाएंगे डीएम भी

इसके अलावा योगी सरकार जिलों के डीएम को भी बदलने की तैयारी में है। राज्य में कई जिलाधिकारियों का सचिव स्तर पर प्रमोशन हो गया है। वह या तो शासन में सचिव हो सकते हैं या फिर किसी मंडल में आयुक्त। जिलों में सरकार ने डीएम को नियुक्त कर आइएएस अफसरों को शासन या मंडल में नियुक्ति कर सकती है।
4 डीएम का प्रमोशन

प्रदेश में चार डीएम का प्रमोशन हुआ है। वाराणसी, लखनऊ, अलीगढ़ और इटावा के जिलाधिकारी अवसर पर प्रमोद किए गए हैं। यह अधिकारी शासन स्तर पर सचिव एवं मंडल आयुक्त के पद पर तैनात किए जा सकते हैं। जल्द ही राज्य सरकार इन नियुक्ति का आदेश जारी कर देगी। फिलहाल, सबकी नजर वाराणसी और लखनऊ के डीएम पदों पर है क्योंकि दोनों ही जिलों में तैनात पर सरकार की गुड बुक्स में शुमार है। माना जा रहा है कि अधिकारियों को राज्य सरकार आयुक्त के पद पर नियुक्त कर प्रमोट कर सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंIPL 2022 RCB vs GT live Updates: गुजरात ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला6 साल की बच्ची बनी AIIMS की सबसे कम उम्र की ऑर्गन डोनर; 5 लोगों को दिया नया जीवनGyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में 20 मई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई को होगी सुनवाईपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.