कोरोना वैक्सीन को लेकर अगर फैलाई कोई अफवाह, तो बचना होगा मुश्किल, सरकार ने की ये व्यवस्था

उत्तर प्रदेश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत होगी। पहले चरण में लाखों हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन दी जानी है।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कल से कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत होगी। पहले चरण में लाखों हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन दी जानी है। यूपी को पहले चरण के लिए कुल 11 लाख वैक्सीन मिली हैं। कोविड वैक्सीन की एक-एक डोज का हिसाब देना होगा। वैक्सीन के खाली वॉयल गिनकर वापस करने होंगे और वेस्टेज का भी पूरा ब्योरा देना होगा। इतना ही नहीं कोविड पोर्टल पर हर डोज की एंट्री भी की जाएगी। इसके अलावा कोरोना वैक्सीन को लेकर अफवाह फैलाने वालों की भी खैर नहीं होगी। अफवाह फैलाने वाले अराजकतत्वों पर सख्त कानूनी कार्रवाई होगी। इनकी पहचान के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कमर भी कस ली है। हेल्थ वर्कर और टीकाकरण सेंटर के नोडल अधिकारियों को अफवाह फैलाने वालों की पहचान की जिम्मेदारी दी गई है।

शुरु हुआ अफवाहों का दौर

दरअसल कल से शुरू हो रहे टीकाकरण के पहले चरण के तहत हेल्थ वर्कर को टीकाकरण लगाया जाएगा। इन सबके बीच वैक्सीन को लेकर अफवाहों का दौर भी शुरू हो गया है। इन अफवाहों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अलग से तैयारी कर ली है। टीकाकरण सेंटर के नोडल प्रभारियों पर भ्रम फैलाने वालों पर शिकंजा कसने का जिम्मा सौंपा गया है। लोगों की शंका और समाधान करने के भी निर्देश दिए गए हैं। शासन की तरफ मिले निर्देश के मुताबिक आशा, एएनएम, हेल्थ वर्कर और सभी टीकाकरण सेंटर को अलर्ट कर दिया गया है। टीकाकरण सेंटर के नोडल अफसर को भी अफवाह का तुरंत निस्तारण करने को कहा गया है। भम्र फैलाने वालों पर सख्त कानूनी कार्रवाही करने के भी साफ आदेश हैं। यूनीसेफ भी इसमें मदद करेगा।

होगी सख्त कार्रवाई

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने साफ किया है कि वैक्सीन को लेकर किसी के मन में भ्रम की स्थिति नहीं होनी चाहिए। वैज्ञानिकों की कड़ी मशक्कत, क्लीनिकल ट्रॉयल के बाद वैक्सीन हम तक पहुंची है। यह वायरस के खिलाफ लड़ाई में अहम हथियार है। अफवाह फैलाने वालों पर कठोर कार्रवाई होगी। इसलिए ऐसे अराजक तत्वों पर खास नजर रहनी चाहिये।

coronavirus
Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned