सड़क सुरक्षा के संबंध में मुख्यमंत्री योगी ने की बैठक- एक्सप्रेस वे पर ओवर स्पीड की तो होगा ई-चालान

सड़क सुरक्षा के संबंध में मुख्यमंत्री योगी ने की बैठक-  एक्सप्रेस वे पर ओवर स्पीड की तो होगा ई-चालान
express way accident issue, CM order for e chalan on over speeding

Anil Ankur | Updated: 11 Jul 2019, 04:45:12 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

वाहनों की गति नापने के लिए पुलिस खरीदेगी स्पीड गन
रोडवेज ड्राइवरों को हर पांच घंटे बाद मिलेगा रेस्ट टाइम

 

लखनऊ। यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna express way) पर दो दिन पहले रोडवेज की बस गिर जाने से हुई दुर्घटना के बाद यूपी सरकार की ताबड़ तोड़ बैठकों का सिलसिला जारी है। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM yogi adityanath) की अध्यक्षता में हुई बैठक में फैसला लिया गया है अगर एक्सप्रेस वे पर गाडिय़ां तेज चलें तो उनका ई चालान कर दिया जाए। इसके लिए पुलिस विभाग गति नापने के लिए स्पीड गन खरीदेगा। बैठक में परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, प्रमुख सचिव अराधना शुक्ला, परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक और पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे।


सड़क सुरक्षा के मानकों का पालन करने के निर्देश

बैठक में मुख्यमंत्री ने सख्ती दिखाते हुए कहा है कि हर वाहन चालक को सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। अगर कोई भी कोताही पाई गई तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए हर महीने सड़क सुरक्षा से संबंधित विभागों की बैठक होगी। उसके बाद जिले स्तर पर सड़क सुरक्षा की बैठक हर महीने होगी। उस बैठक में समीक्षा की जाएगी कि आखिर ये दुर्घटनाएं क्यों बढ़ रही हैं।

सभी एक्सप्रेस वे पर पेट्रोलिंग बढ़ाने के निर्देश

मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने बैठक खत्म होने के बाद बताया कि सीएम योगी ने लोक निर्माण विभाग और यूपीडा से सड़कों को दुरुस्त करने को कहा है। उन्होंने कहा कि अक्सर देखा गया है कि खराब सड़कों के कारण दुर्घटनाएं होती हैं। सड़को को ठीक कराने के लिए योगी सरकार ने बीते दिनो गड्ढा मुक्त सड़क का अभियान भी चलाया था।

एक्सप्रेस वे पर ओवर स्पीडिंग के लिए ई चालान करने को कहा गया

अवनीश अवस्थी ने बताया कि सीएम योगी ने कहा है कि एक्सप्रेस वे पर फरर्राटेदार सड़क होने के कारण अक्सर लोग स्पीड की सीमा भूल जाते हैं और जिसके कारण अक्सर दुर्घटनाएं होती हैं। वहां पर हो रही दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ई चालान करने की व्यवस्था के आदेश उन्होंने दिए। अवस्थी ने बताया कि अगर ओवर स्पीडिंग की तो ई चालान किया जाएगा।

ड्राइवरों को हर पांच घंटे ड्राइविंग के बाद आराम मिलेगा

प्रमुख सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस बात पर आश्वर्य व्यक्त किया है कि बिना अराम कराए ड्राइवरों से 12-12 घंटे गाडिय़ां चलवाई जा रही थीं। इसके लिए उन्होंने यह निर्देश दिए कि सड़क सुरक्षा के मानकों को देखते हुए रोडवेज वाहन चालकों को पांच घंटे के बाद रेस्ट दिया जाए। इससे ड्राइवर भी स्वस्थ्य रहेगा और दुर्घटनाएं भी कम होंगी। उन्होंने बताया कि अब रोडवेज ड्राइवरों की स्क्रीनिंग और मेडिकल टेस्टिंग समय समय पर की जाएगी।

स्कूली वाहनों के फिटनेस के लिए परिवहन विभाग को निर्देश

मुख्यमंत्री ने बैठक में परिवहन विभाग को निर्देश दिए कि वे स्कूली वाहनों की फिटनेस भी चेक करें। अगर किसी स्कूल के वाहन पूरी तौर से दुरुस्त नहीं हैं तो उन्हें न चलने दिया जाए। प्रमुख सचिव ने बताया कि पूरी व्यवस्था पर मुख्यमंत्री सीधी नजर बनाए हुए हैं। सीएम हर महीने खुद सड़क सुरक्षा से संबंधित रिपोर्ट देखेंगे। इतना ही नहीं सड़कों की फिटनेस ऑडिट कराई जाएगी। इस बैठक के बाद परिवहन मंत्री ने भी बैठक शुरू कर दी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned