एलएसटीडी कार्यक्रम के तहत बच्चो ने सीखी जीवन की पाठशाला

बाल अधिकारों पर आधारित पांच दिवसीय कार्यशाला की हुई शुरुआत

By: Ritesh Singh

Updated: 08 Dec 2019, 05:25 PM IST

लखनऊ। स्लम एवं गरीबी रेखा से नीचे स्थान रखने वाले बच्चो को जीवन की पाठशाला के अंतर्गत पांच दिवसीय कक्षाओं का आगाज़ रविवार को लखनऊ के विभिन्न स्थानों पर किया गया। फैज़ाबाद रोड स्थित अकबरनगर प्रथम में कार्यशाला का शुभारंभ अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन्स के हेड एवं आशा वेलफेयर फाउंडेशन के सेक्रेटरी बृजेन्द्र बहादुर मौर्य के द्वारा किया गया। बच्चो को संबोधित करते हुए उन्होंने बच्चो को पर्याप्त रूप से खेलने खाने एवं पढ़ने पर ज़ोर देते हुए प्रातः कालीन अध्ययन पर ज़ोर दिया इसी के साथ कार्यशाला में मौजूद बच्चियो को गुड टच एवं बैड टच के बारे में जानकारी देते हुए प्रत्येक मुसीबत की दशा में पुलिस एवं परिवार की सहायता लेने के बारे में बताया।

इस मौके पर वर्ल्ड विज़न इंडिया की अकबरनगर की सीडीएफ अधिकारी स्नेहलता धुसिया भी मौजूद रहीं एवं उन्होंने बताया कि कार्यशाला का समापन 12 दिसम्बर को किया जाएगा।वर्ल्ड विज़न इंडिया के एलएसटीडी (लाइफ स्कूल फॉर ट्रांसफॉर्मेशन डेवलपमेंट) परिवर्तनकारी विकास के लिए जीवन की पाठशाला प्रोग्राम के तहत यह पांच दिवसीय कक्षाएं आयोजित की जाती है,जिसमे आर्थिक रूप से कमज़ोर बच्चो को सामान्य ज्ञान का परिचय,गुड टच बैड टच,एवं जीवन की सामान्य जानकारियों को गीत कविता पोस्टर के माध्यम से जागरूक किया जाता है।राजधानी में एलएसटीडी प्रोगाम चारबाग,लवकुशनगर, डालीगंज अकबर नगर के सभी क्षेत्रों में आयोजित होता है। इसमे नर्सरी से लेकर इंटरमीडिएट तक के छात्र छात्राएं शामिल होते है।

एलएसटीडी प्रोग्राम के प्रारंभ

पांच दिवसीय यह प्रोग्राम बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से आयोजित होता है जिसमे जीने का अधिकार,विकास का अधिकार,सुरक्षा का अधिकार एवं सहभागिता का अधिकार की जानकारी दी जाती है। राजधानी लखनऊ में इसका प्रबंध स्टीव डेनियल राव के निर्देशन में किया जाता है। कार्यशाला लेने वाले शिक्षकों को वर्ल्ड विज़न के द्वारा ट्रेनिंग दी जाती है।

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned