यूपी में कड़ाके की ठंड से बचने के लिए शराब की बिक्री बढ़ी, आबकारी विभाग के चेहरे खिले

-यूपी में 50 फीसदी शराब की बिक्री बढ़ी : आबकारी विभाग
-सर्दी को दूर भगाने का इलाज शराब नहीं : डाक्टर

By: Mahendra Pratap

Updated: 14 Jan 2021, 03:54 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। और लोग सर्दी से बचने के लिए खूब शराब पी रहे हैं। उधर इस ठंड में यूपी आबकारी विभाग के चेहरे खिल उठे हैं। आबकारी विभाग खुश इसलिए है कि उनकी शराब बिक्री की खपत बढ़ गई है। पर डाक्टरों का मानना है कि शराब फौरीतौर पर ठंड को दूर भगा दे पर वैसे यह ब्रेन की सेल्स को मारती है। जिससे शरीर को काफी नुकसान पहुंचता है।

हिरोइन बनने की चाह में घर छोड़ भागी तीन छात्राएं, एसपी की चतुराई से बची जान, जानें क्या हुआ

शराब की 50 फीसदी बढ़ी खपत:- यूपी आबकारी विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय भुसरेड्डी ने बताया कि, पिछले साल के मुकाबले इस साल शराब का राजस्व पचास फीसदी ज्यादा आया है। यानी शराब की खपत 50 फीसदी बढ़ी है।

फौरी राहत तो मिल जाती पर नुकसान बड़ा :- किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) लखनऊ के मानसिक रोग विभाग के पूर्व हेड डॉ. एससी तिवारी ने बताया कि, शराब दिमाग को सुस्त कर देती है। दिमाग का लेवल ऑफ एक्टिविटी कम हो जाता है। शराब पीने के बाद जो व्यवहार वह नहीं करता है नशे में उसे करता है। क्योंकि दिमाग पर उसक वश नहीं रहता है। दूसरा ब्रेन एक्टिविटी कम हो जाती है। चीजों का एहसास कम होने लगता है। सर्दी हो या फिर गर्मी कुछ पता नहीं चलता है। पर शराब ब्रेन की सेल्स को मारती है, ऐसे में फौरी राहत तो मिल जाती है पर बड़ा नुकसान नहीं उठाना चाहिए।

शराब पीना है तो सतर्क हो जाइए :- सर्दी में शराब पर फिजिशियन डॉ. आलोक संगम का कहना है कि, शराब पीना हर मौसम में नुकसानदायक होता है। शरीर का मेटाबोलिज्म बढ़ जाता है, ब्लड प्रेशर, हार्ट बीट, पल्स तो बढ़ ही जाता है कॉन्फिडेंस जबरदस्त बढ़ता है। ऐसे में अगर इस शीतलहर और सर्दी से बचने के लिए शराब पीना है तो सतर्क हो जाइए।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned