चुनाव मतगणना के दौरान सदमे में भाजपा, प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली तलब

चुनाव मतगणना के दौरान सदमे में भाजपा, प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली तलब

Dikshant Sharma | Publish: Mar, 14 2018 01:51:46 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि सरकार चुनाव नहीं कराती और डीएम की तैनाती खुद अखिलेश यादव ने की थी।

लखनऊ। गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव की मतगणना जारी है। दोपहर 12:30 बजे तक आये नतीजों में दोनों ही सीटों पर विपक्षी एकता भाजपा पर भारी पड़ती दिख रही है। इस बीच गोरखपुर सीट पर गिनती के दौरान डीएम ने एजेंट और मीडिया कर्मियों को बाहर कर दिया। जानकारी मिलते ही विपक्षी दल ने भाजपा सरकार पर सवाल उठाने शुरू कर दिए तो साथ ही चुनाव आयोग को खत भी लिख दिया गया। हालांकि सत्ता पक्ष की ओर से भी जवाब आगया और पूरा ठीकरा अखिलेश यादव पर ही फोड़ दिया। इन सब के बीच भाजपा खेमे में निराशा दिख रही है। दिल्ली आला कमान ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय को दिल्ली तलब कर लिया है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली तलब
फिलहाल चुनाव आयोग ने डीएम को तलब करते हुए मीडिया को बाहर करने का कारण पूछा है। इधर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय को दिल्ली तलब किया गया है। वे दिल्ली के लिए रवाना भी हो चुके हैं। सूत्रों का कहना है उपचुनाव के नतीजों के बीच महेंद्र नाथ पांडेय को तलब करना आला कमान की नाराज़गी ज़ाहिर करता है। फूलपुर और गोरखपुर का उपचुनाव के अबतक के नतीजे भाजपा के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं।

दरअसल गोरखपुर उपचुनाव में पहले राउंड की गिनती के बाद ही डीएम राजीव रौटेला ने मीडिया समेत एजेंट को काउंटिंग एरिया से बहार कर दिया। विपक्षी दलों का आरोप है हाथ से फिसलती सीट भाजपा नेताओं को हजम नहीं हो रही। अब इस आड़ में वे कुछ बड़ा खेल कर सकते हैं।

कांग्रेस विधानमंडल नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कांग्रेस इस मुद्दे को विधानसभा में उठाएगी। गिनती के लिए जो एजेंट बनाए गए लाठियों से बाहर कर दिया गया। पहले ही डीएम के खिलाफ कोर्ट ने कार्रवाई के आदेश दिए थे फिर भी सीएम योगी ने उन्हे तैनात रखा। सरकार की मंशा साफ़ है। वे लोकतंत्र की हत्यारी है।

वही सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने चुनाव आयोग को पत्र लिख कर डीएम की कार्यशैली पर सवाल खड़े किये हैं। भारी गड़बड़ी करने की मंशा है सरकार की और अगर ऐसा होता है तो चुनाव आयोग पर से जनता का विशवास उठ जाएगा।

सरकार का बचाव करता हुए श्रीकांत शर्मा ने कहा कि सरकार चुनाव नहीं कराती और डीएम की तैनाती खुद अखिलेश यादव ने की थी।

 

Ad Block is Banned