योगी सरकार का ऐलान पावरलूम बुनकरों को 1 अगस्त से मिलेगा बिजली दरों में छूट का लाभ

  • पहले नई दरों को 1 जनवरी से किया गया था लागू
  • लाॅक डाउन में बुनकरों के हालात केा देखते हुए बढ़ाया गया

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बुनकरों पिछले लाॅक डाउन के मद्देनजर बिजली दरों में छूट को लेकर बड़ा फैसला किया है। पावरलूम बुनकरों को बिजली दरों में छूट का लाभ एक जनवरी के बजाय 1 अगस्त 2020 से देने का फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट बाइसर्कुलेशन इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। सरकार का दावा है कि इस फैसले से उत्तर प्रदेश के करीब एक लाख पावरलूम बुनकरों को इसका लाभ मिलेगा। इस पर 435 करोड़ रुपये का खर्च आएगा जिसका भुगतान हथकरघा विभाग बिजली विभाग को करेगा।

 

कोरोना संक्रमण से पहले ही सरकार ने बुनकरों के फिक्स चार्ज को खत्म करते हुए दिसंबर 2019 में ही छोटे और बड़े पावरलूमों को बिजली दरों में छूट देने का फैसला लिया था। इसका लाभ उन्हें हाॅर्सपावर के आधार पर एक जनवरी 2020 से देने का फैसला किया गया था। देश में कोरोना संक्रमण फैलने और लाॅक डाउन लग जाने के बाद काम बंद हो जाने से बुनकरों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई।

 

बुनकरों ने 1 जनवरी 2020 से लागू की गई बिजली की नई दरों का विरोध करते हुए प्रदेशव्यापी हड़ताल की थी। वाराणसी, गोरखपुर, मऊ, मेरठ, मुरादाबाद आदि शहरों के बुनकरों ने इस संबंध में हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग मंत्री से मिलकर इस नई दरों को एक जनवरी से लागू न किये जाने की मांग की थी। छूट की सीमा बढ़ाने के प्रस्ताव पर पावर कार्पोरेशन ने कहा था कि नई और पुरानी दरों के बीच की डिफरेंस धनराशि का भुगतान हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग को अतिरिक्त रूप से करना होगा।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned