scriptomicron strain 6 times more stronger than Delta variant know its sympt | Omicron Variant: कोरोना का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट 6 गुना अधिक ताकतवर, सेल को करता है प्रभावित, ऐसे करें बचाव | Patrika News

Omicron Variant: कोरोना का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट 6 गुना अधिक ताकतवर, सेल को करता है प्रभावित, ऐसे करें बचाव

Omicron Variant - एक्सपोर्ट का कहना है कि कि पहली लहर के दौरान वायरस का संक्रमण स्तर ज्यादा था लेकिन या उतना खतरनाक नहीं था वहीं दूसरी लहर के दौरान इसके विपरीत स्थिति देखने को मिली इसका संक्रमण स्तर भले कम था लेकिन या कहीं अधिक खतरनाक था। नया ओमिक्रॉन वेरिएंट 6 गुना ज्यादा ताकतवर है लेकिन यह कितना खतरनाक है इसके बारे में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है।

लखनऊ

Updated: November 30, 2021 12:07:54 pm

लखनऊ. Omicron Variant - कोविड-19 का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट के सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है। सावधानी के तहत विदेश से आने वालों की जांच कराई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने विदेश से वापस लौटने वालों को आठ दिन क्वारंटीन करने के निर्देश दिए हैं। इसी बीच एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोविड-19 का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट पहले के मुकाबले 6 गुना ज्यादा ताकतवर व संक्रामक है। अधिक ताकतवर व संक्रामक होने की वजह से लोगों को अधिक सतर्क व सावधान रहने की जरूरत है।
corona_3_1.png
सेल से अटैचमेंट ज्यादा

कोरोना संक्रमण का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट विशेषज्ञों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। अब तक की जांच में यह बात पता नहीं लगाई जा सकी है कि नए वेरिएंट पर वैक्सीन कारगर है या नहीं। केजीएमयू के सेंटर फॉर एडवांस रिसर्च के प्रोफेसर डॉ शैलेंद्र सक्सेना ने बताया कि ओमिक्रॉन वायरस का संक्रमित शरीर में सेल के साथ अटैचमेंट ज्यादा देखा गया है। यही वजह है कि यह ज्यादा समय तक मरीज के शरीर में रहता है तथा ज्यादा संक्रामक भी होता है। हालांकि, ज्यादा संक्रामक होना ज्यादा तीव्र या खतरनाक होने की निशानी नहीं है।
अधिक ताकतवर पर खतरनाक के प्रमाण नहीं

एक्सपर्ट्स का कहना है कि कि पहली लहर के दौरान कोरोना वायरस का संक्रमण स्तर ज्यादा था लेकिन उतना खतरनाक नहीं था वहीं दूसरी लहर के दौरान इसके विपरीत स्थिति देखने को मिली इसका संक्रमण स्तर भले कम था लेकिन कहीं अधिक खतरनाक था। नया ओमिक्रॉन वेरिएंट 6 गुना ज्यादा ताकतवर है लेकिन यह कितना खतरनाक है इसके बारे में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है।
डरने की नहीं जरूरत

एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट से डरने की जरूरत नहीं है। हमें घबराने के बजाय सावधानी बरतने की जरूरत है। पहले से निर्धारित कोरोना वायरस प्रोटोकॉल जैसे कि हाथ धोना, मास्क लगाना, 6 फीट की दूरी रखना व टीकाकरण का पालन किया जाए तो काफी हद तक कोरोना संक्रमण से बचा जा सकता है। लोगों को अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए खान-पान का ध्यान रखना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूUP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'अलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौतीधोनी का पहला प्यार है Indian Army, 3 किस्से जो लगाते हैं इस बात पर मुहर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.