लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर घायलों को मिलेगा फौरन इलाज, जल्द बनेगा ट्रॉमा सेंटर

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर घायलों को मिलेगा फौरन इलाज, जल्द बनेगा ट्रॉमा सेंटर

Akansha Singh | Updated: 24 Jul 2019, 12:02:52 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे (Lucknow-Agra Express Way) पर जल्द ही ट्रामा सेंटर (Trauma Center) बन कर तैयार हो जाएगा।

लखनऊ. लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे (Lucknow-Agra Express Way) पर जल्द ही ट्रामा सेंटर (Trauma Center) बन कर तैयार हो जाएगा। इसके लिये तैयारियां शुरु कर दी गई हैं। अभी तक कन्नौज के सौरिख (Saurik) से मेडिकल कॉलेज (Medical College ) के लिए करीब 35 किमी और जिला अस्पताल के लिए करीब 45 किमी की दूरी तय करनी होती है। अब ऐसा नही करना पड़ेगी। पहले हिस्से में ट्रामा सेंटर के लिए जिला प्रशासन ने सौरिख कट के पास एक्सप्रेसवे से लगी दो हजार वर्ग मीटर जमीन का चयन कर लिया है। डीएम ने यूपीडा मुख्यालय लखनऊ को प्रस्ताव भेजा है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर आए दिन हादसे होते हैं। घायलों को सही समय पर इलाज न मिलने के कारण उनकी मौत तक हो जाती है।

यह भी पढ़ें - लखनऊ, कानपुर, वाराणसी समेत आठ एयरपोर्ट होंगे हाईटेक, यूपी सरकार ने किया ऐलान

एक्सीडेंट के बाद तुरंत नही मिल पाता था इलाज

मेडिकल कालेज टीम द्वारा तैयार किए गए ट्रामा सेंटर के प्रस्ताव को डीएम ने यूपीडा (UPEIDA) को भेज दिया है। एक्सप्रेसवे पर होने वाले हादसों में गंभीर घायलों को तुरंत इलाज की जरूरत होती है। यह उन्हें फिलहाल नहीं मिल पा रहा है। जब तक उन्हें मेडिकल कालेज या जिला अस्पताल पहुंचाया जाता, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। पांच दिसंबर 2018 को एक्सप्रेसवे पर सौरिख में बने कट का उद्घाटन करने आए प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना (Cabinet minister satish mahana) के सामने स्थानीय लोगों और खुद जिलाधिकारी रवींद्र कुमार (District Magistrate Ravindra Kumar) ने इस समस्या को रखा था। सतीश महाना ने भी इसे गंभीरता से लिया। उन्होंने ट्रामा सेंटर के लिए सौरिख में ही एक्सप्रेसवे के नजदीक जमीन के चयन के निर्देश दिए थे। जमीन की तलाश में जुटे अधिकारियों ने सौरिख कट के पास ही एक किसान की करीब दो हजार वर्ग मीटर जमीन का चयन ट्रामा सेंटर के लिए किया है। किसान भी जमीन देने को राजी है। मेडिकल कालेज टीम द्वारा तैयार किए गए ट्रामा सेंटर के प्रस्ताव को डीएम ने यूपीडा को भेज दिया है। जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ने बताया कि शासन से हरी झंडी मिलने की पूरी उम्मीद है। इसके बाद एस्टीमेट तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

यह भी पढ़ें - जहरीली शराब पर UP CM Yogi Adityanath का बड़ा कदम, बिक्री पर लगेगा Rasuka और Gangster Act

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned