यूपी में बढ़ेंगी बिजली की दरें, बड़ा झटका देने की तैयारी में पावर कारपोरेशन, कर रहा ये प्लानिंग

उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन नई दिल्ली में याचिका करने जा रहा है दायर।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग से बिजली दरें बढ़वाने में नाकाम उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन (Uttar Pradesh Power Corporation) अब नियामक आयोग के फैसले के खिलाफ अपीटेल ट्रिब्यूनल (अपटेल) नई दिल्ली में याचिका दायर करने जा रहा है। वहीं इसकी जानकारी मिलते ही उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से मुलाकात कर इस मामले में हस्तक्षेप करने और इसे रोकने की मांग की है।

 

सभी पक्षों को सुनने के बाद फैसला

उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से उनके आवास पर मुलाकत की और उन्हें बताया कि 11 नवंबर 2020 को विद्युत नियामक आयोग ने सभी पक्षों को सुनने के बाद यह फैसला किया कि वर्ष 2020-21 की बिजली दरों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। लेकिन यह फैसला बिजली कंपनियों को रास नहीं आ रहा है।

 

यह भी पढें: पीएम मोदी आज करेंगे डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर रेलवे ट्रैक का शुभारंभ, भाऊपुर से खुर्जा के बीच चलेंगी ट्रेनें

 

उपभोक्ताओं पर पड़ेगा बोझ

उपभोक्ताओं के निकल रहे हजारों करोड़ रुपये वापस न करना पड़े इसके लिए बिजली कंपनियां उपभोक्ताओं पर अतिरिक्त बोझ लादने की कोशिश में जुट गई हैं। इसलिए प्रदेश सरकार इस मामले में बिना देर किये हस्तक्षेप करे। वहीं ऊर्जा मंत्री ने भी आश्वासन दिया है कि वह पूरे मामले को देखेंगे। उपभोक्ताओं पर कोई अतिरिक्त भार नहीं पड़ने दिया जाएगा। सरकार हर संभव कोशिश करेगी।

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned