UP investor summit: पॉवर सेक्टर में ये ग्रुप करेगा 10000 करोड़ का निवेश, योगी सरकार के साथ हुआ एमओयू

अवादा पावर प्राइवेट लिमिटेड ने 10000 करोड़ के निवेश का एमओयू किया, करीब 7.44 मिलियन घरों को इससे को ऊर्जा प्रदान की जा सकती है

February, 2108:27 PM

लखनऊ. राजधानी स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 'यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018' की शुरुआत हुई। इसके तहत यूपी में 4 लाख 28 हजार करोड़ का निवेश किया जाएगा। स्वच्छ ऊर्जा कंपनी अवादा पावर प्राइवेट लिमिटेड ने 1600 मेगावॉट सौर्य परियोजनाओं के विकास के लिए राज्य में 10,000 करोड़ रुपये निवेश करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। परियोजनाएं मिर्जापुर, बडुन, गोरखपुर और बुंदेलखंड जिलों में विकसित की जाएंगी। लगभग 3,700 रोजगार के अवसर भी प्रदान होंगे। कंपनी का लक्ष्य है कि सालभर में उत्तर प्रदेश मे 2000 मेगावाट सौर्य ऊर्जा का उत्पादन हो। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में 'यूपी इन्वेस्टर समिट 2018' के हिस्से के रूप में (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए थे।

वर्तमान में उत्तर प्रदेश में 56.935 मेगावाट सौर्य ऊर्जा की स्थापित क्षमता है और इसमें 28 जीडब्ल्यू के उच्च पीढ़ी के आंकड़े को छूने की क्षमता है। सौर्य प्रतिबद्धता के साथ, यह संगठन वार्षिक आधार पर लगभग 25,79,820 टन कार्बन उत्सर्जन को कम करने में सक्षम होगा। उत्तर प्रदेश में करीब 7.44 मिलियन परिवारों को इन परियोजनाओं के जरिये स्वच्छ ऊर्जा मिलेगी।

अवादा ग्रुप के चेयरमैन विनीत मित्तल ने कहा, "हम उत्तर प्रदेश को सौर्य उर्जा का उपयोग करने और अपने विकास की जरूरतों को स्थायी रूप से बनाए रखने के मिशन का समर्थन करने के लिए तैयार हैं। हम स्वच्छ ऊर्जा प्रक्षेपवक्र पर राज्य को गुलेल करने में मदद करने के लिए आक्रामक तरीके से काम कर रहे हैं। राज्य उच्च सौर्य विकिरण क्षेत्र में आता है, जो अपने स्वच्छ ऊर्जा पोर्टफोलियो के विस्तार के लिए बहुत अधिक अवसर प्रदान करता है। हमें खुशी है कि इस एमओयू ने उत्तर प्रदेश को माननीय सम्मान प्राप्त करने में आगे बढ़ने वाला सक्षम बनाया। प्रधान मंत्री जी का सपना है कि भारत को 2022 तक 100 जीडब्ल्यू सौर्य ऊर्जा प्रदान किया जाये। कंपनी देश के लिए सस्ती, स्वच्छ और प्रचुर शक्ति प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है और अभी हम हरी प्रौद्योगिकियों पर ध्यान देना जारी रखेंगे ।

अवादा पावर के इस कदम से देश में हजारों मेगावाट बिजली पैदा करने की योजना है और देश के लिए स्थायी ऊर्जा लाने की दिशा में एक महत्व पूर्ण कदम होगा। कंपनी की इंजीनियरिंग टीम ने उच्च निष्पादन आउटपुट और कम लागत वाली डिलीवरी अवधि के साथ डिजाइन, इंजीनियर और अक्षय परियोजनाओं का निर्माण करने की क्षमता का प्रदर्शन किया है।

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned