UP Top Ten News: स्कूलों की फीस माफी के मामले में राज्य सरकार से जवाब तलब, कोर्ट ने कही ये बात

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कक्षा आठ तक के बच्चों को परीक्षा के बगैर प्रोन्नत करने और लॉकडाउन के दौरान गैर वित्त पोषित प्राइवेट स्कूलों द्वारा फीस मांगने पर रोक लगाने की मांग में दाखिल जनहित याचिका पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है।

By: Karishma Lalwani

Published: 21 Nov 2020, 03:37 PM IST

स्कूलों की फीस माफी के मामले में राज्य सरकार से जवाब तलब

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कक्षा आठ तक के बच्चों को परीक्षा के बगैर प्रोन्नत करने और लॉकडाउन के दौरान गैर वित्त पोषित प्राइवेट स्कूलों द्वारा फीस मांगने पर रोक लगाने की मांग में दाखिल जनहित याचिका पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है। यह आदेश मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर व न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा की खंडपीठ ने मेरठ की संस्था मासूम बचपन फाउंडेशन की याचिका पर दिया है। कोर्ट ने अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा से याचिका में उठाए गए मुद्दों पर हलफनामा मांगा है। याचिका पर राज्य सरकार के स्थायी अधिवक्ता राजीव सिंह ने प्रतिवाद किया। बच्चों की शिक्षा, सुरक्षा, विकास व कल्याण के कार्य कर रही संस्था का कहना है कि जब लॉकडाउन में स्कूल बंद थे तो प्राइवेट स्कूलों को फीस नहीं लेनी चाहिए।

ट्रक और ट्रैक्टर की भिड़ंत, हादसे में दो की मौत

अम्बेडकरनगर. उत्‍तर प्रदेश के अंबेडकरनगर में रात करीब तीन बजे आलू लदे ट्रक और गिट्टी लदे ट्रैक्टर-ट्राली में टक्कर होने से दो की मौत हो गई। हादसे में दोनों वाहन सड़क किनारे पलट गए। इसके नीचे दबकर ट्रक चालक व ट्रैक्टर पर सवार एक मजदूर की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। जबकि दोनों वाहनों पर सवार दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसा महरुआ थानाक्षेत्र में सुखारीगंज बाजार का है। यहां आलू लदे ट्रक और गिट्टी लादे अकबरपुर की तरफ जा रहे ट्रैक्टर-ट्राली में सीधी टक्कर हो गई। इससे दोनों वाहनों के अगले हिस्से के परखचे उड़ गए। ट्रक चालक शिव मोहन की और ट्रैक्टर पर सवार मजदूर होमराज की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि क्लीनर श्याम कुमार घायल हो गया। घायलों को एंबुलेंस की मदद से जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जबकि मृतकों के शव को पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

मस्जिद के पास गोली मारकर हत्या, रंजिश का आरोप

वाराणसी. शहर में शनिवार सुबह लालपुर मस्जिद के पास एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पु‍लिस के अनुसार गोली काफी करीब से मारने की वजह से शाहिद इकबाल नामक व्यक्ति ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। परिजनों ने हत्या का कारण पुरानी रंजिश बताया है। वहींं गोली मारकर हत्‍या करने की जानकारी होने के बाद एसएसपी अमित पाठक और एसपी सिटी सहित क्राइम ब्रांच टीम और समेत कई थानोंं की पुलिस भी मौके पर पहुंंची और परिजनों से बातचीत करने के साथ ही हत्‍यारों को पकड़ने की रणनीति बनाते हुए आने जाने वाले रास्‍तों पर सघन जांच का आदेश दिया। हत्‍यारों के सुराग के लिए आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की भी पड़ताल की तैयारी की जाएगी।

लापता युवक का पेड़ पर लटका मिला शव

लखीमपुर खीरी. खीरी जिले में एक युवक का पेड़ से लटका हुआ शव पाए जाने से हड़कंप मच गया। गांव के पूरब शव मिलने की सूचना पर लोग मौके पर गए लेकिन दुर्गंध आने से पास तक नहीं पहुंच सकें। परिजनों ने शव की शिनाख्त की। थाना क्षेत्र के संडिलवा गांव के रहने वाले रिंकू सिंह (46) 11 नवम्बर को घर से खेत जाने की बात कहकर निकले थे। देर शाम तक घर वापस न लौटने पर परिजनों ने रिंकू की तलाश शुरू की थी। परिजनों ने किसी अनहोनी की आशंका होने पर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। काफी खोजबीन के बाद सुबह करीब नौ बजे गांव के पूरब तालाब के पास झड़ियों में चांदी के पेड़ से रिंकू का शव लटकता हुआ पाया गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच की और शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया।

आशा कार्यकर्ता शौचालय का करेंगी सर्वे, मिलेगी पगार

बहराइच. आशा कार्यकर्ता वंचित परिवारों में शौचालय का सर्वे करेंगी। शासन ने उन्हें जिम्मेदारी सौंपी है। सर्वे के एवज में हर कर्मी को 250 रुपये मानदेय मिलेगा। यह कार्य एक से 15 दिसंबर के बीच अभियान चलाकर पूरा किया जाएगा। स्वच्छ भारत मिशन के फेज वन में 4.56 लाख परिवारों को शौचालय की सौगात दी जा चुकी है। बावजूद वर्ष 2012 के बेसलाइन सूची में नाम न होने से सैकड़ों गरीब शौचालय पाने से वंचित रह गए। इसका सीधा असर खुले में शौचमुक्त की मंशा पर पड़ रहा है। अब सरकार ने फेज-टू के जरिए वंचित परिवारों को शौचालय से जोड़कर ओडीएफ के सपने को धरातल पर उतारने का फैसला लिया है। इसके लिए 8500 शौचालय निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया है।

यूपी का तीसरा बैलिस्टिक जांच केंद्र वाराणसी में बनकर तैयार

वाराणसी. आगरा और लखनऊ के बाद यूपी का तीसरा बैलिस्टिक जांच केंद्र, वाराणसी में बनकर लगभग तैयार है। एक से दो महीने में इसकी शुरुआत हो जाएगी। केंद्र के बन जाने से इसका फायदा न केवल वाराणसी जोन के 10 जिलों की पुलिस को मिलेगा बल्कि प्रयागराज और गोरखपुर जोन के भी सभी जिलों में अपराध की गुत्थी पुलिस यहीं सुलझाएगी। वाराणसी के रामनगर स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला में बैलिस्टिक अनुभाग (फायर आर्म्स की जांच) का निर्माण अंतिम चरणों में है। शुभारंभ के बाद सबसे पहले यहां छोटे असलहों की जांच होगी। बाद में बड़े और घातक हथियारों की गुत्थी भी यहां सुलझेगी। यहां बनी विधि विज्ञान प्रयोगशाला में एक्सपर्ट उन असलहों की जांच करेंगे, जो पुलिस उन्हें सौंपेगी।

पार्षद को बनाया बंधक, नाले के गंदे पानी में बैठ करते ररहे मिन्नतें

वाराणसी. पीएम के स्मार्ट सिटी वाराणसी में जनसमस्याओं की अनदेखी एक पार्षद को भारी पड़ी। गलियों में बहते सीवर के पानी से नाराज लोगों ने स्थानीय पार्षद तुफैल अंसारी को बंधक बना लिया। लोगों ने पहले पार्षद तुफैल अंसारी को कुर्सी पर बैठाकर रस्सी से बांधा और फिर उन्हें सीवर के बहते पानी के बीच बैठा दिया। दरअसल, पिछले चार महीने से लगातार सीवर का पानी सुबह और शाम गलियों में बहता रहता है।लोगों ने स्थानीय पार्षद के अलावा नगर निगम के अफसरों से भी इसकी शिकायत की। दर्जनभर शिकायती पत्र भी सौंपे लेकिन अब तक कोई समाधान न निकलने पर गुस्साए लोगों ने पार्षद को बंधक बनाकर गंदे पानी के बीच बैठा दिया।

तीन दिन बाद पिंजरे में कैद हुआ तेंदुआ

बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच में ग्रामीणों को तेंदुए के आतंक से शनिवार की सुबह साढ़े चार बजे राहत मिली। पिंजरे में बंधी बकरी की लालच में आया तेंदुआ कैद हो गया। मामला कतर्नियाघाट वन्यजीव अंतर्गत गोलहना गांव का है। दरअसल, गुरुवार शाम महिला सुमित्रा की गोद से पांच वर्षीय बालिका श्रेया को उठाकर भाग गया था। करीब 18 घंटे के बाद बच्ची का शव गन्ने के खेत से बरामद हुआ। ग्रामीणों के आक्रोशित होने पर प्रभारी प्रभागीय वनाधिकारी यशवंत अपने नेतृत्व में तेंदुए को पकड़ने के लिए शुक्रवार को पिंजरा लगवाया था। पिंजरा लगाने के बाद गांव वासियों की सुरक्षा के मद्देनजर प्रभारी प्रभागीय वनाधिकारी वन कर्मियों के साथ पूरी रात गश्त करते रहे। प्रभारी प्रभागीय वनाधिकारी यशवन्त ने बताया कि काफी प्रयास के बाद तेंदुए को पिंजरे में कैद कर लिया गया।

अगले साल गोरखपुर को मिलेगी यूपी के पहले आयुष विवि की सौगात

गोरखपुर. गोरखपुर में खुलने वाले प्रदेश के पहले आयुष विश्वविद्यालय की आधारशिला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनवरी 2021 में रखेंगे। यह परियोजना कोविड-19 की वजह से लटकी हुई थी। मकर संक्रांति के दिन इसके शिलान्यास की तैयारी है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग के अफसरों को हर हाल में जनवरी के दूसरे सप्ताह तक शिलान्यास की तैयारियां पूरी कर लेने का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने चरगांवा में बनने वाले वेटनरी कॉलेज का निर्माण भी जल्द शुरू करने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि शिलान्यास के साथ ही आयुष विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य भी शुरू हो जाए। शहर से सटे चौरीचौरा तहसील के मलमलिया गांव में 24.29 हेक्टेयर जमीन आयुष विभाग के नाम कर दी गई है। एम्स के बाद स्वास्थ्य क्षेत्र में गोरखपुर के नाम एक और उपलब्धि इस विश्वविद्यालय के बनने से जुड़ जाएगी।

ये भी पढ़ें: Patrika Breaking: मातम में बदली जन्मदिन की पार्टी, सपा एमएलसी के फ्लैट में चली गोली, इस एक गलती से हो गया बड़ा हादसा

बेटियों ने संभाली कमान, की ताबड़तोड़ कार्रवाई

अमेठी. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में 'विश्व चिल्ड्रन्स डे' पर बेटियों ने थानों की कमान संभाली। थाना प्रभारी बन बेटियों ने अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाते हुए मिशन शक्ति और एन्टी रोमियो अभियान पर जोर दिया। शुक्रवार को जिला मुख्यालय स्थित गौरीगंज कोतवाली में एसपी दिनेश सिंह की पहल पर अमेठी में 12वीं की छात्र को एक दिन के लिए कोतवाल की कमान सौंपी गई। एक दिन के लिए कोतवाल बनाए जाने पर युवती ने कहा कि बहुत गर्व महसूस हो रहा है कि उन्हें इतनी बड़ी जिम्मेदारी मिली है। इसी तरह छात्रा कहा कि दो समस्याएं आई थीं जिसमे पारिवारिक एक जमीन विवाद को लेकर थी। बतौर गौरीगंज थाने को कोतवाल हमने उनकी समस्याओं को गंभीरता से सुना और उस पर कार्रवाई की गई।

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned