क्या फिर से लागू होगा संपूर्ण Lockdown?, पढ़ें- जो जानना चाहते हैं आप

- Corona Virus के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई टेंशन
- PM Narendra Modi मुख्यमंत्रियों से लेंगे फीडबैक
- Lockdown बढ़ाने की अटकलें तेज, लेकिन संपूर्ण लॉकडाउन की संभावना नहीं

By: Hariom Dwivedi

Updated: 15 Jun 2020, 02:35 PM IST

लखनऊ. कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में एक बार फिर संपूर्ण लॉकडाउन (Lockdown Extension) लागू करने की अटकलें तेज हैं। लेकिन, अभी तक केंद्र व राज्य सरकार की तरफ से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। माना जा रहा है कि 16 और 17 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और अन्य मुख्यमंत्रियों के साथ होने वाली बैठक में अहम फैसला लिया जा सकता है। 17 जून को पीएम मोदी यूपी सहित उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे, जो कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित हैं। लॉकडाउन का पांचवां चरण अनलॉक-1 (Unlock) हो गया है, जिसमें कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्य जगह सोशल डिस्टेंसिंग (Social Destancing) के साथ पाबंदियों में ढील है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्रियों से उनकी स्ट्रेटजी जानेंगे, जिसके बाद एक कॉमन स्ट्रेटजी बनाई जा सकती है। हालांकि, लॉकडाउन फिर (Lockdown Extension) होगा ऐसी कोई संभावना नहीं दिखती। मुख्यमंत्रियों की बैठक में प्रधानमंत्री उनसे शहरी कंटेनमेंट जोन में किसी तरह की छूट न देने की बात कह सकते हैं। साथ ही कंटेनमेंट एरिया में घर-घर जाकर कोरोना टेस्ट करने और सोशल डिस्टेंसिंग, फेसमास्क व दूसरे एहतियात बरतने के लिए सख्ती का निर्देश दिया जा सकता है। लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं, फिलहाल इसका जवाब अनिश्चित है।

क्या हो सकती है स्ट्रेटजी...
- कंटेनमेंट जोन में पूरी तरह से सख्ती
- घर-घर जाकर होगी कोरोना जांच
- फेसमास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन
- फिलहाल स्कूल-कॉलेज बंद रह सकते हैं

लॉकडाउन हुआ तो...
- अगर फिर लॉकडाउन हुआ तो धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा।
- बच्चों का टीकाकरण प्रभावित हो रहा है, जिससे आगे चलकर उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है
- अस्पतालों में इलाज नहीं मिलने के चलते बहुत सी महिलाओं को होम डिलीवरी करनी पड़ी, जिसकी वजह से नवजात को जरूरी टीके नहीं लग सके। यह टीका बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।

लॉकडाउन कब-कब
- पहला चरण- 25 मार्च से 14 अप्रैल तक
- दूसरा चरण- 15 अप्रैल से 03 मई तक
- तीसरा चरण- 04 मई से 17 मई तक
- चौथा चरण- 18 मई से 31 मई तक
- अनलॉक1- 01 जून से

Note: बीते दिनों पीआईबी ने संपूर्ण लॉकडाउन की खबरों से इनकार किया था।

Corona virus coronavirus
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned