scriptMinister made third master plan for city development | शहर विकास के लिए मंत्री ने बनाया तीसरा मास्टर प्लान | Patrika News

शहर विकास के लिए मंत्री ने बनाया तीसरा मास्टर प्लान

मंत्री डॉ. यादव ने शहर के कलाकारों एवं साहित्यकारों के साथ चर्चा की, महत्वपूर्ण सुझाव मांगे

महू

Published: December 29, 2021 09:40:56 pm

उज्जैन। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव बुधवार को निजी होटल में आयोजित शहर के कला और साहित्य क्षेत्र से जुड़े कलाकारों से मिले, उनके साथ संवाद किया और शहर के नाटय, नृत्य, गायन विधा के बारे में विस्तृत चर्चा की। इस मौके पर कलाकार, वरिष्ठ रंगकर्मी, रचनाकार और साहित्यकार मौजूद थे।
मंत्री यादव ने शहर के विकास में कलाकारों की भूमिका के संबंध में संवाद किया। उन्होंने कहा कि उज्जैन के अतीत, वर्तमान और भविष्य में विकास पर हमें चर्चा करनी है, साथ ही कलाकारों एवं साहित्यकारों से शहर के विकास के लिए महत्वपूर्ण सुझाव भी लेने हैं। वेद विद्या प्रतिष्ठान से निकले विद्यार्थियों को जीवनभर स्कॉलरशिप और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। शहर के विकास के लिए 2021 से 2035 तक का मास्टर प्लान बनाया गया है।

Minister made third master plan for city development
मंत्री डॉ. यादव ने शहर के कलाकारों एवं साहित्यकारों के साथ चर्चा की, महत्वपूर्ण सुझाव मांगे

यह शहर का तीसरा मास्टर प्लान है
यह शहर का तीसरा मास्टर प्लान है। मक्सी रोड, आगर रोड और देवास रोड पर कई उद्योग संचालित किए जा रहे हैं। दो नए उद्योगों का भूमिपूजन भी किया गया है। इनके प्रारंभ होने से 10,000 लोगों को रोजगार मिलेगा। उज्जैन में मेडिकल डिवाइस पार्क भी बनेगा। उल्लेखनीय है कि उज्जैन सहित पूरे देश में चार पार्क बनेंगे, जहां मेडिकल उपकरण बनाए जाएंगे।

कई उद्योग होंगे स्थापित
भविष्य में यहां कई उद्योग स्थापित होंगे और साथ ही सहायक उद्योग भी लगेंगे। मंत्री डॉ. यादव ने संवाद कार्यक्रम में कहा कि किसी भी कालखंड के गौरव का बखान वहां के कलाकारों के माध्यम से ही होता है। अत: उज्जैन के कलाकार अपनी कला के माध्यम से शहर के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।

सुझाव: देश के कलाकारों को मिले मौका
संवाद कार्यक्रम में कलाकारों और साहित्यकारों द्वारा शहर के सांस्कृतिक और कला क्षेत्र में विकास के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए। इनमें सांदीपनि आश्रम में भगवान कृष्ण की लीलाओं से संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए जाएं व इनमें देश के कलाकारों को प्रस्तुति का मौका दिया जाए, उज्जैन में गीता महोत्सव आयोजित किया जाए, उज्जैन के कलाकारों को रिहर्सल के लिए एक निश्चित स्थान उपलब्ध करवाया जाए, कलाकारों के मंदिरों में हाजिरी परंपरा प्रारंभ की जाए, शहर के सभी प्रमुख मंदिरों में सांस्कृतिक कार्यक्रम का वर्षभर का कैलेंडर बनाया जाए, कृष्ण मंदिर में हवेली संगीत गायन परंपरा प्रारंभ की जाए, रीगल टॉकीज का जीर्णोद्धार और नवीनीकरण किया जाए, साथ ही यहां सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएं जैसे महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.