इन टिप्स से मिली थी 'बाहुबली' प्रभास को कामयाबी, जानिए पूरी कहानी

पढ़े 'बाहुबली' फेम एक्टर प्रभास की कहानी तथा उनके कामयाबी पाने के सीक्रेट्स उन्हीं की जुबानी

2002 में जब मैंने तेलुगु फिल्म ईश्वर से डेब्यू किया तो खुद मुझे अंदाजा नहीं था कि यह सफर मुझे यहां तक ले आएगा। इसके बाद 2004 से मुझे सफलता मिलनी शुरू हुई, जो बाहुबली तक आते-आते एक अलग ही मुकाम पर पहुंच गई। आज जब पीछे मुडकऱ देखता हूं तो किसी सपने की तरह दिखने वाला यह सफर आज हकीकत बन गया है। इसमें मेरी कड़ी मेहनत लगी है। मेरे कॅरियर के दौरान कई लोगों ने मेरी मदद की। छोटी-छोटी बात समझ नहीं आती थी। कई बार तो एक्स्ट्रा कलाकारों से भी मैंने बहुत कुछ सीखा।

मैं बचपन से शर्मीला था। जब मैंने अपने दोस्तों को बताया कि मैं सिनेमा में जा रहा हूं तो उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ क्योंकि वहां व्यक्ति को बहिर्मुखी होना पड़ता है। वास्तव में उन्होंने एक बार मुझसे पूछा था कि क्या मैं एक बाल अभिनेता बनना चाहूंगा और मैंने कहा कि मैं अपना चेहरा कैमरे के सामने ठीक से ऊपर नहीं उठा सकूंगा। लेकिन मैंने अभिनय के क्षेत्र में आने के लिए कड़ी मेहनत की। अब सब कुछ बदल गया है।

धीरे-धीरे होता है सब
अगर आप कुछ करना ही चाहते हैं तो धीरे-धीरे स्थितियां अनुकूल होने लगती हैं। आपकी दिलचस्पी बढ़ती हैं। हर राह में कई कठिनाइयां आती हैं, पर यदि अपनी दिलचस्पी को खोते नहीं हैं तो एक दिन सफल होते हैं।

सपने ऊंचे होने चाहिए
मैं सपने देखता था, आज भी देखता हूं। मेरे कई सपने अब हकीकत बन गए हैं। जैसे अपने क्षेत्र में कामयाबी पाने का सपना, जो मैंने पा ली है और बहुत कुछ पाना बाकी है। मेरा कहना है कि सपने देखना कभी मत छोडि़ए, ये आपको हताशा से बचाते हैं।

सबको साथ लेकर चलना
मेरा मानना है कि सबको साथ लेकर चलने से आपको सफर की थकान नहीं होगी। अपने लोगों को बताइए कि आप कैसे और क्या पाने वाले हैं, उनसे जानिए कि उन्हें क्या चाहिए। फिर एक-दूसरे की मदद करते हुए आगे बढि़ए। सबको वह मिलना चाहिए, जो उसका हक है। तभी जीने का मजा है।

Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned