जोंगा बनाकर जिंदा चीतल को डाला गाड़ी में : देंखे वीडियो

Mangal Singh Thakur | Publish: May, 26 2019 11:42:47 AM (IST) Mandla, Mandla, Madhya Pradesh, India

घबराहट में गई चीतल की जान, वन विभाग की लापरवाही

मंडला. वन विभाग की लावरवाही और ग्रामीणों की ना समझी के चलते वनप्राणी चीतल की की मौत हो गई। चीतल के चारों पैर को घंटो बांध कर रखा गया था। जिसकी दहशत के कारण चीतल ने दम तोड़ दिया। जानकारी के अनुसार गर्मी के दिनों में वन्य प्राणी पानी की तालाश में जंगल से बाहर आ जाते हैं। ऐसा ही मामला जगमंडल अंजनियां के अंतर्गत ग्राम पंचायत गुड़ा अंजनिया में देखने को मिला। शनिवार की सुबह चीतल पानी की तलाश में बस्ती के पास आ गया। जहां कुत्तो ने चीतल को दौड़ा दिया व काटने लगे। कुत्तों से बचने के लिए चीतल गांव के अंदर पहुंच गया। जहां ग्रामीणों ने सुरक्षित रखने के उदï्देश्य से चीतल को पकड़ लिया और तत्काल वन विभाग को सूचना दी। लेकिन वन विभाग की टीम को गांव आने में काफी समय लग गया। इस दौरान ग्रामीणों चीतल के चारों पैर रस्सी से बांध दिए। जब वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची तो घायल चीतल को वाहन में रखने के लिए लकड़ी के सहारे जोंगा बनाकर उठाने लगे। जिससे घायल चीतल और अधिक दशहत में आ गया। जब वन विभाग की गाड़ी में रखा गया तो उसे चोट भी लगी। रस्सी से बांधने के कारण पैर में भी चोट लगी है। इसके पहले की वन विभाग की टीम पशुचिकित्सालय ले जाकर घायल चीतल का उपचार करा पाते चीतल ने दम तोड़ दिया। पीएम के बाद शव का नियमानुसार अंतिम संस्कार कर दिया गया।
वन विभाग की टीम ने समय पर पहुंच कर रेस्क्यू किया हैै। चीतल को बांधने की जानकारी नहीं है। इसकी जानकारी ली जाएगी। सही पाए जाने पर संबंधितो के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
जीएस पावर, रेंजर, जगमंडल
चीतल संवेदन शील होते हैं। लोगों के बीच आते ही दशहत में आ जात हैं। चीतल की मौत घबराहट के कारण हुई है। शरीर में दो स्थानों पर कुत्तों के कटाने के निशान भी मिले हैं। वहीं पैर में भी रस्सी से बांधने के निशान थे।
डॉ सुरेन्द्र तेकाम, पशु चिकित्सक

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned