चार महीने से रुका हुआ है संविदा शिक्षकों का वेतन, परेशान हैं शिक्षक

चार महीने से रुका हुआ है संविदा शिक्षकों का वेतन, परेशान हैं शिक्षक

Amaresh Singh | Updated: 10 Jul 2019, 11:43:30 AM (IST) Mandla, Mandla, Madhya Pradesh, India

आजाद अध्यापक शिक्षक संघ ने सौंपा ज्ञापन

मंडला। जिले के अध्यापक एवं संविदा शिक्षकों को पिछले चार माहों से वेतन अप्राप्त है। शिक्षक सदन में बुलाई गई बैठक में आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि बैठक में प्रांतीय आह्वान पर यह बैठक आयोजित की गई थी जिसमें जिले भर के अध्यापकों ने अपनी समस्याओं से अवगत कराया। अध्यापकों की जारी एम्पलाई कोड में जिले के लगभग 130 अध्यापकों के मूल वेतन एवं ग्रेड पे में अंतर के कारण वेतन भुगतान नहीं हो पा रहा।


एम्पलाई कोड जारी नहीं किए गए हैं
जिले भर के लगभग 149 अध्यापकों के एम्पलाई कोड जारी नहीं किए गए, शिक्षा विभाग से स्थानांतरित होकर आए लगभग 27 अध्यापकों को एमपी टॉस की सूची मेंं शामिल नहीं किया जा रहा जिसके कारण उन्हें वेतन भुगतान नहीं हो पा रहा। जिले भर के लगभग 10 हॉस्टल अधीक्षक से माध्यमिक शिक्षक बनाया गया है उन्हें भी सूची में शामिल नहीं किया जा रहा। मंडला विकासखंड के लगभग 140 अध्यापकों का खाता नंबर सुधारकर वेतन नहीं दिया जा रहा है स्थानांतरण से आए अध्यापकोंं को पद ना होने के कारण वेतन भुगतान नहीं किया जा रहा है।


मुख्यमंत्री को भेजा समस्याओं का ज्ञापन
आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि अध्यापकों की विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रांतीय अध्यक्ष भरत पटेल की अगुवाई में प्रांतीय स्तर पर 7 जुलाई को प्रदेश भर में ज्ञापन सौंपा गया है। इनमें मांग की गई है कि जिले के अध्यापकों संविदा शिक्षकों को विगत 4 माह से वेतन अप्राप्त है। सातवें वेतनमान का भुगतान नहीं किया, नये संवर्ग में नियुक्त शिक्षकों को ट्रेजरी एम्पलाई कोड जारी कर वेतन प्रदान किया जाना है। विगत 6 माह में जिले के कुल 90 प्रतिशत शिक्षकों के एम्पलाई कोड जारी किये गये हैं। जिले के 10 प्रतिशत अध्यापक अभी भी एम्पलाई कोड से वंचित है ज्ञात हो कि नये कैडर में बगैर एम्पलाई कोड के वेतन भुगतान संभव नहीं है। शीघ्र एम्पलाई कोड जारी करने की मांग की गई है।

वेतन हैड में आवंटन प्रदान नहीं किया जा रहा है
इसके अलावा नवनिर्मित वेतन हैड में आवंटन प्रदान नहीं किया जा रहा है। कोषालय को एवं समस्त डीडीओ को संवर्ग की गलत जानकारी सुधारने के लिये विकल्प दिये जाएं। शिक्षा विभाग से आजाक विभाग में स्थानांतरित एवं हॉस्टल अधीक्षक से अध्यापक बने अध्यापकों को सूची में सम्मलित किया जाकर उनके पद डीडीओ को उपलब्ध कराएं जाएं। आदिम जाति कल्याण विभाग से आदिम जाति कल्याण विभाग मण्डला में स्थानांतरित अध्यापकों को प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों के पद शीघ्र उपलब्ध कराये जाएं जिससे उनका जिले से वेतन आहरित हो सके। जिले के कुछ विकासखण्डों में आज दिनॉक तक छटवें वेतनमान का एरियर का भुगतान नहीं किया गया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned