वृद्ध दंपति की मदद के लिए आगे आए समाजसेवी

दिलाई राशन और अर्थिक मदद, छप्पर भी सुधारा

By: Mangal Singh Thakur

Published: 10 May 2021, 07:39 PM IST

मंडला. जीवन के अंतिम पड़ाव व कोरोना काल में दो वक्त की रोटी के लिए तरासते वृद्ध दंपतियों को समाज सेवियों का सहारा मिल गया है। जिससे कुछ समय के लिए राहत मिल गई है। राशन के साथ आर्थिक मदद मिलने से वृद्धों के आंखो में खुशी के आंसू झलक उठे। 'पत्रिकाÓ में 9 मई को प्रकाशित 'संकट में दो वक्त की रोटी भी नहीं हो रही नसीब झोपड़ी भी टूटीÓ खबर के प्रकाशित होने के बाद समाज सेवियों ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया। गौरतबल है कि बम्हनी के वार्ड क्रमांक 13 निवासी 68 वर्षीय मंगल उइके व 63 वर्षीय संतो बाई कोरोना कफ्र्यू के कारण आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। पत्रिका में प्रकाशित खबर को संज्ञान में लेते हुए ग्वारा बटालियन से इंस्पेक्टर रेवा राम अपनी टीम के साथ पहुंचे। वृद्धों का हाल जाना और उनकी हिम्मत बढ़ाई। टीम द्वारा दाल चावल, तेल, मसाला आदि लगभग एक माह का राशन उपलब्ध कराया गया। पड़ोसियों की मदद से झोपड़ी के छप्पर में पॉलीथिन लगाकर रहने के लिए अस्थाई व्यवस्था की साथ आर्थिक मदद भी उपलब्ध कराई। मदद के लिए स्थानीय निवासी बालाघाट में पदस्थ टीआई अजय मरकाम, राजेश दुबे, किशोर गुप्ता, ओमप्रकाश चंद्रौल, रवि सोनी, नवनीत रजक, प्रियंका, जितेन्द्र केसवानी ने भी सहयोग किया है। छप्पर के लिए लकड़ी व तिरपाल की व्यवस्था की गई है एवं आर्थिक मदद दी गई है। मौसम खराब होने के कारण स्थाई व्यवस्था नहीं हो सकी। समाज सेवियों ने वृद्धों के सिर में छत के लिए स्थाई व्यवस्था करने का आश्वासन दिया है। इसके साथ ही नगर के जनप्रतिनिधि भी वृद्धों से मुलाकात की और यथा संभव मदद का आश्वसान दिया।
बताया गया कि वृद्ध के पास जो राशन कार्ड है उसमें पात्रता पर्ची नहीं लगी हुई है। जिसके कारण उसे राशन नहीं मिल पा रहा है। जिसके लिए भी नगर पालिका द्वारा प्रयास किया जाएगा की पात्रता पर्ची देने के साथ वृद्धों को निशुल्क राशन उपलब्ध हो सके।
पुलिस विभाग दाल चावल, तेल, मसाला लगभग 15 की व्यवस्था कर दी गई है। नगर पालिका अध्यक्ष सुशीला चौरसिया के निर्देश दिए हैं।

इनका कहना

टिकरी में रहने वाले वाले वृद्ध दंपति की आर्थिक स्थिति खराब होने की जानकारी लगी है। पिछले साल नगर पालिका जरूरतमंदो को राशन बांटा गया था। इस कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए है। वृद्ध के पास राशन कार्ड है और पत्रता पर्ची नहीं है तो जल्द से जल्द पत्रता पर्ची दिलाने का प्रयास किया जाएगा।
अनिल देवार, सीएमओ, बम्हनी

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned