दूसरी लहर को थामने घर नहीं पहुंच रही त्रिकटु चूर्णं

आयूर्वेदिक अस्पताल में दी जा रही पुड़िया

By: Mangal Singh Thakur

Published: 16 Apr 2021, 04:48 PM IST

मंडला. आदिवासी बहुल्य क्षेत्र में आयूर्वेदिक चिकित्सा पद्धति को स्वीकार किया जाता है। खास कर वनांचल क्षेत्र के लोग आयूर्वेद पर ही निर्भर रहते हैं। लेकिन कोरोना संक्र मण की दूसरी लहर का प्रभाव रोकने के लिए अभी तक त्रिकटु चूर्ण और संशमनी बटी के पैकेट का वितरण जिले में शुरू नहीं हुआ है। आयुष विभाग के अधिकारियों ने इसकी मांग भी भेजी है लेकि न शासन स्तर पर ध्यान नहीं दिया गया है। इसके चलते अभी तक इसके वितरण का कोई अभियान शुरू नहीं कि या गया है। इस महामारी के पहले साल 2020 में आयुष मंत्रालय द्वारा भेजे गए त्रिकटु चूर्ण और संशमनी बटी ने आम आदमी की सेहत संभालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। लोग होम क्वॉरंटीन अवधि में न के वल ठीक हुए बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता विक सित क रने में इस औषधि का लंबे समय तक उपयोग किया गया।


आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी खुद स्वीकारते हैं कि यह आयुर्वेदिक औषधि कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को रोकने में उपयोगी है। इससे सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार जैसे प्रांरभिक लक्षणों को नियंत्रित कि या जा सक ता है। इस चूर्णं की आम जनमानस में अभी भी मांग बनी हुई है। लोग अस्पताल में आकर इसकी पूछताछ क र रहे हैं। जहां उन्हें पुडिय़ा बनाकर चूर्णं उपलब्ध हो रहा है। जिसके लिए उन्हें पांच रुपए देकर अस्पताल में पंजीयन भी कराना होता है। वर्ष 2020 में आयूष विभाग ने अभियान चलाकर घर-घर चूर्णं का वितरण निशुल्क किया था। इस साल 2021 में कोरोना की वापसी होने पर राज्य शासन के आयुष विभाग द्वारा इस जनऔषधि के वितरण की कोई रणनीति घोषित नहीं की गई है। इससे आयुष विभाग के अधिकारी-कर्मचारी भी निराश हैं। वे इस महामारी के नियंत्रण में जनापेक्षा के अनुरूप योगदान नहीं दे पा रहे हैं।


बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता
आयुर्वेदिक उपचार पद्धति में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए संशमनी बटी जिसमें गिलोय होती है, त्रिकटु चूण काढ़ा जिसमें सौंठ, पीपली एवं काली मिर्च का उपयोग किया जाता है। संशमनी वटी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने, ज्वर व सर्दी जुकाम में उपयोगी है। त्रिकटु चूर्ण खांसी, सर्दी-जुकाम व अन्य रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। इन औषधियों को निश्चित मात्रा में चिकित्सक के परामर्श अनुसार सुरक्षात्मक उपाय के रूप में वर्तमान कोरोना संक्रमण में सेवन करना लाभदायक है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned