बंद से थमी जिले की रफ्तार, एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में बंद का व्यापक असर

बंद से थमी जिले की रफ्तार, एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में बंद का व्यापक असर

harinath dwivedi | Publish: Sep, 06 2018 12:14:10 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India


बंद से थमी जिले की रफ्तार, एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में बंद का व्यापक असर


मंदसौर.
एट्रोसिटी एक्ट एवं आरक्षण के विरोध में गुरुवार को भारत बंद के बीच जिले में भी बंद का व्यापक असर नजर आया। शहर के साथ जिलेभर में बंद का असर साफ देखा गया। बंद ने पूरे जिले की रफ्तार को रोक दिया। सपाक्स, करणी सेना और आरक्षण मुक्ति मोर्चा के साथ अनेक संगठनों ने बंद को समर्थन दिया।


हर और पसरा रहा सन्नाटा
शहर के साथ जिले में पेट्रोल पंप से लेकर निजी स्कूल, यात्री बसों से लेकर कृषि उपज मंडी और सब्जी व फूल मंडी से लेकर किराना, सराफा, कपड़ा व अन्य सभी बाजार भी बंद रहे। बसों के बंद रहने के कारण ट्रेनों में लोगों की अधिक भीड़ उमड़ी। बस स्टैंड से लेकर बाजार और प्रमुख चौराहों पर सन्नाटा पसरा रहा। आम लोग चार व नाश्ता को बाजारों में तरस गए। बंद के चलते लोग घरों में ही रहे। इधर बंद के आह्वान के बीच पुलिस व प्रशासन भी चोकन्ना होकर शहर के चौराहों से लेकर गांव की चौपाल पर सीधी नजर बनाए रखी।

जिले में यहा दिखा बंद का व्यापक असर
मंदसौर शहर के साथ जिले के गरोठ, भानपुरा, शामगढ़, सुवासरा, सीतामऊ, भावगढ़, मल्हारगढ़, संजीत, दलोदा, पिपलियामंडी, नारायणगढ़ से लेकर अन्य जगहों पर बंद का व्यापक असर दिखाई दिया। जिला से लेकर तहसील मुख्यालय से लेकर नगर व कस्बों से लेकर पंचायत स्तर तक बंद का असर नजर आया। एट्रोसिटी के विरोध में बुलाए गए बंद के आह्वान में जिले में हर एक जगह पर दुकानें बंद रही और लोगो ने स्वेच्छा से बंद को समर्थन दिया। मंडी और सब्जी व फूल मंडी से लेकर किराना, सराफा, कपड़ा व अन्य सभी बाजार भी बंद रहे। बसों के बंद रहने के कारण ट्रेनों में लोगों की अधिक भीड़ उमड़ी। बस स्टैंड से लेकर बाजार और प्रमुख चौराहों पर सन्नाटा पसरा रहा। आम लोग चार व नाश्ता को बाजारों में तरस गए। बंद के चलते लोग घरों में ही रहे। इधर बंद के आह्वान के बीच पुलिस व प्रशासन भी चोकन्ना होकर शहर के चौराहों से लेकर गांव की चौपाल पर सीधी नजर बनाए रखी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned