बंद के दौरान पुलिस ने किया बल प्रयोग, बंद कराने वालों को खदेड़ा

- विद्युत कंपनी के लिपिक का स्थानांतरण होने पर गरोठ रहा बंद

By: harinath dwivedi

Published: 24 May 2018, 05:57 PM IST

मंदसौर.
मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कंपनी के वरिष्ठ लिपिक रामदयाल मालवीय के स्थानांतरण के विरोध में बुधवार को नगर बंद रहा। इसी बीच दोपहर में नए बस स्टैंड गरोठ पर पुलिस तथा कुछ युवकों के बीच विवाद हुआ, जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर युवकों को भगाकर माहौल शांत किया। दिनभर के घटनाक्रम के बीच जहां एक और प्रशासनिक अधिकारी दिनभर सक्रिय रहें, वहीं विधायक चंदरसिंह सिसोदिया क्षेत्र में मौजूद होने के बाद भी दिनभर नजर नहीं आए।
उल्लेखनीय है कि बिजली कंपनी के गरोठ संभाग अंतर्गत बरखेड़ा लोया वितरण केंद्र पर पदस्थ वरिष्ठ लिपिक रामदयाल मालवीय का स्थानांतरण देवास जिले के बागली संभाग में तत्काल प्रभाव से हो गया हैं। जिसके विरोध में मंगलवार को नगर के नवयुवकों तथा हिंदूवादी संगठन के पदाधिकारियों ने संभागीय कार्यालय पर धरना देकर ज्ञापन दिया था, तथा स्थानांतरण के विरोध तथा निरस्त करने की मांग को लेकर नगर बंद का आह्वान किया था। जिस पर नगर के बाजार सुबह से नहीं खुले तो शाम 4 बजे धारा 144 (सोशल मीडिया के लिए) लागू कर व्यापारियों से दुकाने खोलने का अनुरोध किया। उसके बाद छुटपुट बाजार खुल गए।
पुलिस और युवकों के बीच बंद को लेकर विवाद
नगर बंद के दौरान स्थानीय अधिकारियों के साथ भानपुरा, गांधीसागर तथा मंदसौर से आया पुलिस बल तैनात रहा। इसी बीच सुबह से बंद बाजार करीब 2 बजे खुलना शुरू हुए तो नए बसस्टैंड पर एक खुले ज्यूस सेंटर को बंद कराने की बात पर कुछ युवकों तथा पुलिस के बीच विवाद हो गया। इस दौरान भानपुरा टीआई गोपालसिंह चौहान के साथ धक्का-मुक्की हो गई। इस दौरान वहां एएसपी डॉ. इंद्रजीत बाकरवाल, गरोठ टीआई आनंदसिंह आजाद भी पहुंचे। जहां से पुलिस ने युवको को हल्का बल प्रयोग कर खदेड़ा। पुलिस का कहना है कि युवक जबरन दुकान बंद करा रहे थे, वही युवकों का कहना है कि वह ज्यूस पीने गए थे। नए बस स्टैंड पर विवाद के बाद प्रशासन ने नगर में धारा 144 (सोशल मीडिया के लिए) लागू कर दी है। शाम होते होते बाजार सुचारू रूप से खुले नजर आए।
जबरन बंद कराने वालों पर होगी कार्रवाई
नगर में माहौल शांतिप्रिय रखने के उद्देश्य प्रशासन ने धारा 144 (सोशल मीडिया के लिए) प्रभाव से लागू कर रखी है। समस्त व्यापारी अपना व्यवसाय बिना किसी के दबाव प्रभाव में चालू रखें व अपने प्रतिष्ठान खोलें, यदि कोई जबरन बंद कराता है तो प्रशासन उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करेगा।
आरपी वर्मा, एसडीएम गरोठ
भड़काऊ मैसेज ना डाले
सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार की आपत्तिजनक, नगर बंद कराने संबधित मैसेज ना करें, यदि उसके बाद भी कोई आपत्तिजनक पोस्ट डालता है तो उसके विरूद्ध वैद्यानिक कार्यवाही की जाएगी। व्यापारी अपना व्यवसाय प्रतिदिन के अनुरूप दुकानें खोलकर करें यदि उसके बावजूद भी कोई जबरन दुकानें बंद कराता है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
डॉ. इंद्रजीत बाकरवाल, एएसपीए गरोठ
तबादले के विषय में उच्चस्तर पर चर्चा
स्थानांतरित मालवीय के तबादले के विषय में ऊर्जा मंत्री व संगठन के पदाधिकारीयों से चर्चा की गई है। व्यापारी अपने प्रतिष्ठान सुचारु करें।
चन्दरसिंह सिसोदिया, विधायक गरोठमंदसौर.

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned