लगातार बारिश, कहीं 2 इंच तो कहीं 3 इंच तक बारिश

लगातार बारिश, कहीं 2 इंच तो कहीं 3 इंच तक बारिश

harinath dwivedi | Publish: Sep, 09 2018 02:16:27 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

लगातार बारिश, कहीं 2 इंच तो कहीं 3 इंच तक बारिश

मंदसौर.
शहर सहित जिले भर में शनिवार को फिर बारिश शुरु हुई। कभी रिमझिम तो कभी झमाझम बारिश का क्रम शुक्रवार की रात्रि से शुरु हुआ जो रविवार तक जारी रहा। बारिश से कई स्थानों पर जलभराव हो गया। वहीं कच्चे मार्गो पर कीचड़ व्याप्त हो गया। कई स्थानों पर कच्चे मकानों की दीवारें तो कहीं मकान गिरे। बारिश से नदी-नाले व तालाब फिर उफान पर आ गए। बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। वहीं प्रमुख बाजारों में सन्नाटा छाया रहा। शहर में 18 घंटे में करीब 2 इंच बारिश दर्ज की गई। वहीं सर्वाधिक बारिश भानपुरा में करीब 3 दर्ज हुई। जिले में अब तक सर्वाधिक बारिश भानपुरा क्षेत्र में 40 इंच दर्ज की गई है। बारिश से मौसम में ठंडक घुल गई। शिवना नदी में भी पानी की आवक रही। हालांकि कालाभाटा बांध का एक गेट खोलकर पानी नदी में छोड़ा गया। वहीं नदी में पानी की आवक बढ़ते देख शुक्रवार की रात्रि में ही रामघाट बैराज क्षेत्र के कड़ी-शटर हटाने पड़े। शनिवार को बैराज ओवरफ्लो रहा। वहीं संजीत, सुवासरा, धुधंडका, शामगढ़ में करीब 1.5 इंच तक बारिश दर्ज की गई। जिले में अब तक करीब 29इंच औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। जबकि गतवर्ष अब तक २५ इंच बारिश ही दर्ज हुई थी। गांधीसागर बांध का जलस्तर 1283.04 दर्ज किया गया।

दो मकान और एक पेड़ गिरा, मौसम में घुली ठंडक
गरोठ क्षेत्र में शनिवार को दूसरे दिन भी झमाझम बरसात का दौर जारी रहा। चालू मानसून सत्र में नगर में अब तक 31 इंच से अधिक वर्षा हो चुकी है जो गत वर्ष से 2 गुना अधिक है। शुक्रवार की देररात से लेकर शनिवार शाम तक रुक- रुककर गरोठ क्षेत्र में बरसात का दौर जारी था। प्रात: से लेकर देर रात्रि तक दिन भर कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश का दौर रहा जारी रहा जिससे नगर का जनजीवन अस्त व्यस्त रहा बाजारों में सन्नाटा छाया रहा वही स्कूलों में प्रतिदिन की अपेक्षा छात्रों की संख्या कम रही। रात को बारिश की वजह से रैदास मार्ग श्रीराम मंदिर के पीछे जगदीश पिता बद्रीलाल मेहर के मकान की दिवार गिर गई जिससे मकान के आगे का हिस्सा व छत गिर गई हालांकि कोई जनहानि नही हुई है। लोहार गली में किशोर पिता प्रह्लाद पूरी गोस्वामी का मकान भी शाम को गिर गया। इसी तरह बरसात के कारण सुबह लोक निर्माण विभाग के पास डिवाइडर के ऊपर एक बड़ा पेड़ गिर गया जिससे करीब एक घंटे तक यातायात बाधित रहा बाद में सूचना मिलने पर नगर परिषद की जेसीबी मशीन लेकर कर्मचारी पहुंचे और पेड़ हटाकर आवागमन चालू करवाया। दोपहर में इसी मार्ग पर एक पेड़ की डाल गिर गई।

तहसील क्षेत्र पर इंद्र देवता मेहरबान

इस वर्षा काल में भानपुरा नगर एवं तहसील क्षेत्र पर इंद्र देवता मेहरबान है। शुक्रवार की शाम 7 बजे से जारी वर्षा अगले दिन शनिवार को भी रात 9 बजे तक जारी थी। दिनभर होती रही बारिश के चलते अब क्षेत्र में बारिश का आंकड़ा 40 इंच पार कर गया है। सतत बारिश से नदी- नाले उफान पर रहे व रेवा नदी में बाढ़ आ गई। लगातार हो रही बारिश से बड़े महादेव का झरना भी पूरे वेग से गिर रहा है। इस वर्षा काल के प्रारंभ से हुई अच्छी खासी वर्षा के चलते घटिया निर्माण कार्यों को उजागर कर दिया। वर्षाकाल के शुरू में ही 29 जून को भानपुरा क्षेत्र में 7 इंच बारिश से भानपुरा नहर तीन स्थानों से फूट गई थी। वही 29 जून की देर रात लेदी तालाब फूट गया था। उक्त तालाब निर्माण के बाद से चार बार फूट चुका है। इस तालाब से 500 हेक्टेयर भूमि सिंचित होती है। किसानों की लगातार मांग के चलते जल संसाधन विभाग द्वारा तालाब की पाल जिस स्थानों से फूटी थी। उस स्थान पर बोरी बंधान कर ठीक किया गया था। तालाब में जिस स्थान पर बोरी बंधान किया गया था, तालाब ओवरफ्लो होने से बोरी बंधान भी ढह गया एवं तालाब का पानी पूरे वेग से उसी स्थान से बहने लगा। सब इंजीनियर जगदीश बागड़ी ने बताया कि बीते 2 दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते तालाब ओवरफ्लो होकर बोरी बंधान वाले स्थान से पानी ऊपर से बहने के कारण बोरी बंधान बिखर गया। इससे तालाब का पानी बह गया।

भादौ के माह में जमकर बरसे मेघ, नदी नाले उफान पर
भैंसोदा ग्राम सहित आसपास के क्षेत्र में शुक्रवार- शनिवार की रात्रि करीब 11 बजे से ही बारिश का दौर शुरू हुआ जो शनिवार को दिनभर जारी रहा। ग्राम सहित ऊपरी क्षेत्रो में कभी तेज तो कभी झमाझम के रूप में हुई बारिश से ग्राम की रूपा नदी भी उफान पर रही। रूपा नदी पर बने एनीकट से दिनभर पानी की चादर चलती रही। इसको देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे। शनिवार शाम तक करीब 19 घंटे तक लगातार रुक- रुककर कभी तेज कभी धीमी तो कभी झमाझम बारिश जारी रही। क्षेत्र के नालों में भी बारिश के पानी का बहाव तेज रहा। साथ ही ग्राम के तालाबो में भी पानी की आवक हुई, इससे तालाबो का जलस्तर बढऩे लगा। दिनभर विद्युत् सप्लाई के बाधित होने का क्रम भी जारी रहा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned