हिन्दुस्तानी को देशभक्ति का सबूत देने की जरूरत नहीं - सारिका श्रीवास्तव

एनआरसी एवं सीएए के विरोध में धरना 26वें दिन भी जारी रहा

मंदसौर. एनआरसी एवं सीएए के विरोध में धरना शहर में लगातार जारी है। 26वें दिन धरना स्थल पर नीलम बाग़ प्रोटेस्ट में वरिष्ठ कामरेड,भारतीय महिला फेडरेशन की प्रदेश सचिव सारिका श्रीवास्तव एवं प्रगतिशील लेखक संघ के वरिष्ठ सदस्य हरनाम सिंह अपनी टीम के साथ पहुंचे। यहां उन्होंने एनआरसी एवं सीएए का विरोध किया।
धरने में सारिका श्रीवास्तव ने कहा कि लोकतंत्र बचाने की यह लड़ाई किसी एक धर्म या किसी एक व्यक्ति की नहीं है। हम हिन्दुस्तानी को देशभक्ति का सबूत देने की जरूरत नहीं है जिसने इस देश की माटी में जन्म लिया और इस देश में रह रहे है वह सभी हिन्दुस्तानी है। संविधान की मूल सिद्धांतों के विरूद्ध यह जो कानून बनाया गया है उसका हम विरोध करते है। हरनामसिंह ने कहा कि जो लोग देश के भाई चारे को तोडऩा चाहते है उनका विरोध करना वाजिब है। देश में सभी एक दूसरे के साथ भाईचारे से रह रहे है ऐसे में नए कानूनों के सहारे सरकारों को इस भाईचारे की सभ्यता को नहीं बिगाडऩा चाहिए। धरने पर काजी आसिफ उल्लाह ने भी संबोधित किया। इस दौरान बड़ी संख्या में सीएए व एनआरसी के विरोध में शहरवासी यहां मौजूद थे।

Mukesh Mahavar Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned