अंचल में खत्म हो गए थे एंटी रेबिज इंजेक्शन

अंचल में खत्म हो गए थे एंटी रेबिज इंजेक्शन

harinath dwivedi | Publish: Dec, 08 2018 06:48:02 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

अंचल में खत्म हो गए थे एंटी रेबिज इंजेक्शन

मंदसौर । जिले में एंटी रेबिज इंजेक्शन की कमी करीब छह माह से चली आ रही है। इस कमी को दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तीन हजार इंजेक्शन की डिमांड भेजी थी। जिसमें दो हजार एंटी रेबिज इंजेक्शन सीएमएचओ कार्यालय को मिले।उसके बाद फिर से दो हजार इंजेक्शन की डिमांड भेजी गई है। बताया जा रहा है िक दो से तीन माह में डिमांड के अनुरुप इंजेक्शन आना अनिवार्य है।
स्टॉक में 1300 इंजेक्शन बचे
सीएमएचओ कार्यालय के स्टोर से मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग को कार्यालय से तीन हजार इंजेक्शन की डिमांड भेजी गई थी। जिसमें से दो हजार इंजेक्शन भेजे गए। दो हजार में से 700 इंजेक्शन अंचल के सिविल अस्पताल से लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर वितरीत कर दिए गए है। एक हजार पुरानी डिमांड में से और दो हजार की एक ओर डिमांड भेजी गई है।
अंचल में खत्म हो गए थे इंजेक्शन
कुछ दिनों पहले जिला मुख्यालय को छोड़ दे तो पूरे जिले में एंटी रेबिज इंजेक्शन लगभग खत्म हो गएथे। गरोठ में मरीजोंं को सरकारी अस्पताल के बजाए मेडिकल से इंजेक्शन खरीदकर लाना पड़ रहे थे। उसके बाद जिला अस्पताल से सीएमएचओ स्टोर को इंजेक्शन दिए गए थे। जो अंचल में भेजे गए थे।
पेरासिटामॉल गोली का स्टाक भी कम
वर्तमान में हाथ पैर दर्द और बुखार के मरीजों की संख्या बहुत अधिक आ रही है। ऐसे में पेरासिटामॉल की गोली की उपयोगिता अधिक है। लेकिन स्टोर में केवल २५ हजार गोलियों का ही स्टाक शेष रह गया है। इसके लिए काफी दिनों पहले सात लाख गोलियों की डिमांड भेजी गई थी लेकिन अभी तक उस डिमांड के अनुरुप गोलियां भेजी गई।
इनका कहना....
एंटी रेबिज इंजेक्शन डिमांड के अनुरुप एक हजार कम आए है। दो हजार इंजेक्शन मिले है। अंचल के स्वास्थ्य केंद्रों पर वितरीत किए गए है, अभी पर्याप्त है। दो हजार की डिमांड फिर से भेज दी गईहै।
डॉ महेश मालवीय, सीएमएचओ।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned