कलेक्टर ने गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण को लेकर शिवना नदी का किया निरीक्षण

कलेक्टर ने गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण को लेकर शिवना नदी का किया निरीक्षण

Jagdish Vasuniya | Publish: Jun, 15 2019 08:27:35 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

कलेक्टर ने शिवना गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण को लेकर शिवना नदी का किया निरीक्षण

मंदसौर । शिवना गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण अभियान में कलेक्टर मनोज पुष्प एवं पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी शनिवार सुबह पशुपतिनाथ मंदिर जाकर शिवना नदी का निरीक्षण किया। इस गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण अभियान के प्रारंभ में कलेक्टर एवं एसपी द्वारा सभी सामाजिक संगठनों व कर्मचारियों से चर्चा की गई। सभी लोगों द्वारा अभियान के बारे में अपने -अपने विचार प्रकट किए। इस दौरान सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा कलेक्टर को अवगत कराया गया कि पिछले वर्ष गहरीकरण का कार्य जहां तक हुआ है। उसके आगे से कार्य प्रारंभ किया जाए। यह कार्य मानसून से पहले करना उचित होगा। पशुपतिनाथ मंदिर से आगे राम घाट तक का गहरीकरण का कार्य किया जाएगा। पशुपति नाथ मंदिर से किला रोड तरफ गहरीकरण का कार्य आगामी वर्ष में किए जाएंगे। लच्छों के रंग रोगन का कार्य सहित राजाम फैक्ट्री के कारण से शिवना प्रदूषित होती हैं। इस बारे में समाज के प्रतिनिधियों द्वारा कलेक्टर को चर्चा के दौरान अवगत भी कराया गया। इस दौरान अपर कलेक्टर अनिल कुमार डामोर, सामाजिक न्याय विभाग के उपसंचालक जेके जैन, जिला जनसंपर्क अधिकारी ईश्वर चौहान, पीडब्ल्यूडी विभाग, नगर पालिका विभाग, आरईएस एवं पीएमजीवाईएस के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।
गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण में समाज द्वारा दी गई दिशा के अनुसार कार्य होगा
अभियान के दौरान कलेक्टर द्वारा सभी समाज जनों से कहा कि इस अभियान में समाज जनों द्वारा जो राय प्रदान की जाएगी। उसी के अनुसार कार्य किया जाएगा। इस अभियान को अधिक से अधिक प्रभावी बनाने के लिए सभी समाजजन आगे आए एवं उत्साह से इसमें भाग ले। जिससे मानसून पूर्व इस अभियान को पूरा किया जा सके एवं कार्य के जो लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। उसमें सफलता प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि शिवना सौंंदर्यीकरण कार्य को नदी संरक्षण प्रोजेक्ट से जोडऩे के लिए भी भोपाल स्तर के प्रयास किए जाएंगे ।
पशुपतिनाथ मंदिर पर नदी के घाट की तरफ जगह-जगह पर डस्टबिन लगाए जाएंगे। जिससे लोग कचरा नदी में ना फंेके एवं नदी प्रदूषित ना हो। शिवना के आसपास बड़े-बड़े होर्डिंग्स भी लगाए जाएंगे। जिससे लोगों को इसमें गंदगी ना डालें इसके प्रति उनके अंदर जागरूकता बढ़े। उन्होंने कहा कि नदियों का बड़ा महत्व है। पहले नदियों के किनारे ही आर्थिक व्यवसाय हुआ करते थे। इन आर्थिक व्यवसायियों की वजह से ही नदी किनारे बड़े बड़े शहरों का निर्माण हुआ। नदी अर्थव्यवस्था की रीढ़ मानी जाती है। नगर पालिका को निर्देश देते हुए कहा कि अभियान की कार्ययोजना तत्काल पूरी बना कर तुरंत प्रस्तुत करें। रामघाट की तरफ डंपर जा सके। इसके लिए आज ही तुरंत रास्ता बनाएं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned