घुंघट हटवाकर नोडल लेते महिलाओं के फोटो, इसे बंद करें नहीं तो कर देंगे काम बंद

घुंघट हटवाकर नोडल लेते महिलाओं के फोटो, इसे बंद करें नहीं तो कर देंगे काम बंद

By: Nilesh Trivedi

Published: 05 Sep 2019, 11:33 AM IST


मंदसौर.
नगर पालिका में बुधवार को सीएमओ सविताप्रधान द्वारा लागूू की गई नई व्यवस्थाओं को लेकर सफाई कर्मचारियों ने विरोध किया। समाजजनों और सफाई संगठनों के पदाधिकारियों के साथ महिला कर्मचारियों का कहना था कि जो नोडल अधिकारी बनाए है। वह महिलाकर्मियों को घुंघट उठाकर उनके फोटो लेने जैसी अश्लील हरकते कर रहे है। इससे समाज व कर्मचारियों में आक्रोश है। तो निरीक्षण के दौरान रजिस्ट्रर पूरा होने से पहले ही पहुंचकर चेक कर निलंबन से लेकर वेतन काटने की कार्रवाई का भी विरोध किया। इसी को लेकर कर्मचारियों ने सीएमओ दफ्तर के बाहर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। जो जॉकेट नपा में सफाईकर्मचारियों को दिए वह भी नपा परिसर में फेंकते हुए इसे पहनने का बहिष्कार कर दिया। और चेतावनी दी कि नोडल द्वारा ली जा रही फोटो, कार्रवाई को वापस लेकर बहाल करने की मांगों का निराकरण नहीं किया तो शहर में सफाई का काम कर्मचारी बंद करते हुए हड़ताल पर चले जाएंगे।
करते रहे इंतजार फिर भी नहीं आई सीएमओ,अध्यक्ष से मिलकर लौटे
सफाई कर्मचारी लामबंद होकर संगठनों के पदाधिकारियों के साथ नपा पहुंचे। वह सीएमओ से मिलने के लिए पहुंचे। लेकिन नपा में सीएमओ नहीं थी। ऐसे में महिला सफाईकर्मी सहित अन्य सभी कर्मचारी नपा में ही सीएमओ का इंतजार करते रहे। लंबे समय तक इंतजार के बाद भी कोई नहीं पहुंचा। सीएमओ के नहीं पहुंचने की स्थिति में नपाध्यक्ष हनीफ शेख से मिलकर घुघट हटाकर फोटो लेने को बंद करने सहित अन्य मांगों से अवगत कराया। नपाध्यक्ष के आश्वासन के बाद यहां से कर्मचारी और समाजजन लौटे।
....नहीं तो कर देंगे काम बंद
अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष पटेल मुकेश चनाल ने बताया कि समाज में घुंघटप्रथा है। लेकिन सीएमओ ने जो नोडल अधिकारी बनाए है। वह समाज की महिलाएं जो सफाई कर्मचारी है। उनके साथ अश्लील हरकत करते है। पुरुष नोडल अधिकारी महिलाओं का घुंघट उठवाकर फोटो लेते है और कहते है कि यह हमें भेजना पड़ते है। यह चार दिनों से हो रहा है। इसकी जानकारी हम आज विरोध करने पहुंचे। इसके अलावा जो जॉकेट दे रखे है। उसको पहनने से इंफेक्शन हो रहा है। इसलिए यह फेंककर इसका बहिष्कार किया है। इसके अलावा जिन दरोगाओं को निलंबित किया। उन्हें बहाल करने की मांग भी की। इसके अलावा वेतन काटने से लेकर अन्य प्रकार की कार्रवाई करते हुए जो दबाव बनाया जा रहा है। इसके विरोध में प्रदर्शन किया। ढाई बजे उपस्थित रजिस्ट्रर पूरा करते है तो सीएमओ जांच करने पौने दो बजे ही पहुंच जाती है। यह समाज बर्दाश्त नहीं करेगा। चार-पांच दिनों से यह चल रहा था। जब समाज प्रमुखों को पता चली तो नपा पहुंचकर विरोध किया। इसके अलावा प्रकाश तंवर सहित बड़ी संख्या में वाल्मिकी समाज जन और सफाई संगठनों के पदाधिकारी भी प्रदर्शन के दौरान पहुंचे।
ऐसा नहीं कहा
दोपहर की पॉली में ९० प्रतिशत कर्मचारी नहीं पहुंचे है। ऐसे में निरीक्षण कर व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए। दरोगाओं को ग्रुप बनाकर दोपहर में कर्मचारियों के फोटो भेजने के लिए कहा था। घुंघट उठाकर फोटो लेने जैसी कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसा नहीं कहा गया है। जॉकेट सहित युनिफॉर्म कर्मचारियेंा को सुविधा के लिए दिए गए है।-सविताप्रधान, सीएमओ

Nilesh Trivedi Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned