दो जिलों के पीडि़तों के साथ कलेक्टोरेट के बाहर धरना देंगे शिवराज

दो जिलों के पीडि़तों के साथ कलेक्टोरेट के बाहर धरना देंगे शिवराज
Breaking : हाईकोर्ट ने पलटा शिवराज सरकार का फैसला,धारा 15 ए को किया शून्य,अब अवैध कॉलोनियां नहीं होंगी वैध

Nilesh Trivedi | Updated: 19 Sep 2019, 12:13:26 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India


दो जिलों के पीडि़तों के साथ कलेक्टोरेट के बाहर धरना देंगे शिवराज

मंदसौर.
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान २१ सितंबर को मंदसौर आ रहे है। बाढ़ प्रभावितों के बीच मंदसौर-नीमच जिले में भ्रमण कर लोगों से मिले थे। अब २१ को फिर प्रभावितों के समर्थन में वह कलेक्टोरेट कार्यालय के बाहर धरना देंगे। इतना ही नहीं जिन लोगों के मकान टूट गए , उन लोगों के साथ वहीं पर सोएंगे।

भाजपा का २० को किसानों व बाढ़ प्रभावितों के समर्थन में प्रदर्शन था, लेकिन शिवराजसिंह चौहान ने २१ को मंदसौर में धरना देने की बात कही थी। इस पर २० का धरना २१ को ही मर्ज किया गया। भाजपा शिवराज के इस धरने को व्यापक बनाने के लिए हर स्तर पर तैयारी में जुट गई है। वहीं चौहान का दौरा बढऩे के साथ प्रशासन भी सकते में है।


दो दिन जिले में बाढ़ प्रभावितों के बीच पहुंचे और सरकार पर आरोपों लगाकर प्रशासन पर सवाल उठाए। शिवराज के इन आरोपों के बाद कांग्रेस ने मोर्चा संभाल लिया। और प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा को भेजा। वह भी दो दिन जिले में घुमे। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने भी बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री २१ सितंबर को सुबह १० बजे मंदसौर आ रहे है। और मंदसौर-नीमच जिले के किसानों व बाढ़ प्रभावितों को लेकर कलेक्ट्रोरेट के बाहर धरना देंगे और बिजली के बिलों से लेकर टूटे मकान व किसानों को राहत देने की बात कहेंगे। भाजपा ने शिवराज के इस प्रदर्शन में दोनों जिलों से प्रभावितों को बुलाया है।


कांग्रेस में नाथ, सिधिंया और राजा के दौरे की तैयारियां
वहीं कांग्रेस में भी नेताओं के दौरे की तैयारियां चल रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह व पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिंया के दौरे की तैयारियंा भी चल रही है। सीएम का दौरा सीतामऊ में करवाए जाने की तैयारी है तो सिधिंया २५ को आएंगे वहीं दिग्विजयसिंह २१ को संसदीय क्षेत्र के दौरे पर रहेंगे।

नेताओं के साथ दिल्ली-भोपाल के अधिकारी भी आ रहे
एक और तो नेताओं का आने का दौर जारी है। इसके चलते गांधीसागर को लेकर राजनीतिक गरमाहट भी चरम पर है। आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जोरों पर चल रहा है। वहीं अब विशेषज्ञों की टीम भी जिले में आने लगी है। गांधीसागर में जलसंसाधन विभाग के मुख्य अभियंता के साथ दिल्ली के विशेषज्ञ पहुंचे तो कृषि विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों का भी मंदसौर जिले में दौरा बताया जा रहा है। इतना ही नहीं १९ सितंबर के बाद दिल्ली से केंद्रीय दल भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचेगा। १९ को दोपहर ३.३० बजे बाढ़ आपदा प्रबंधक के संयुक्त सचिव संदीप पोण्डरिक मंदसौर आ रहे है और रात विश्राम के बाद २० को जाएंगे। वह दो दिन १९ व २० को जिले में प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned