खेड़ीवाला और नपाध्यक्ष के विवाद अब पकड़ता जा रहा तूल

खेड़ीवाला और नपाध्यक्ष के विवाद अब पकड़ता जा रहा तूल
खेड़ीवाला और नपाध्यक्ष के विवाद अब पकड़ता जा रहा तूल

Nilesh Trivedi | Updated: 12 Oct 2019, 11:41:16 AM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

खेड़ीवाला और नपाध्यक्ष के विवाद अब पकड़ता जा रहा तूल


मंदसौर.
9 अक्टूबर को नगर पालिका सम्मेलन में पार्षद पति युसुफ खेड़ीवाला और नपाध्यक्ष हनीफ शेख के बीच हुआ विवाद अब और तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस के राजनीति गलियारों में इस विवाद के बाद पार्टी स्तर पर शिकायतों का दौर शुरु हो गया है। वहीं खेड़ीवाला ने नपाध्यक्ष शेख को खुला पत्र लिखते हुए शहर में बाढ़ के दौरान बाजारों में जो पानी घुसा उसके लिए जवाबदार ठहराया है। वहीं इस विवाद में जिलाध्यक्ष ने सार्वजनिक रुप से बयान देने से इंकार किया है।


पत्र में लिखा कार्यवाहक अध्यक्ष मंै जनता के हित के लिए लिख रहा हूं खुला पत्र


पार्षद पति युसुफ खेड़ीवाला ने नपाध्यक्ष को जो खुला पत्र लिखा है उसमें कार्यवाहक अध्यक्ष लिखकर संबोधित करते हुए कहा कि जनता के हित के लिए मैं आपको यह खुला पत्र लिख रहा हू। 15 सितंबर की वह सुबह याद दिलाना चाहता हु, जब शहर में बाढ़ का पानी बढ़ रहा था, जनता व व्यापारी चिंतित थे। व्यापारियों की दुकानों में पानी बढऩे के कारण 25 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। जिसे नगरपालिका द्वारा बचाया जा सकता था।


15 को सुबह मैनें आपको दोनों पंप स्टेशन चालु करने की बात कही तो आपने असमर्थता व्यक्त की। तब मैंने आपको सायरन बजवाने के लिए कहा था परंतु आपने सायरन खराब होने की बात कही। मैंने आपको फेक्ट्रियों के सायरन बजाने के लिए कहा था। व्यापारी स्वयं अपना माल खाली करते व इसके लिए नगरपालिका कचरा गाड़ी सहित जो 60 से अधिक वाहन नगरपालिका के पास है, व्यापारियों को दुकान खाली करने के लिए उपलब्ध करा सकते थे। गुदरी पर स्थित शिवना बाढ़ नियंत्रण योजना के तहत बने लोहे के गेट को बंद करवाने के लिए कहा था। अध्यक्ष की इस गलती का परिणाम गुदरी क्षेत्र के लोगों को 18-20 लाख का नुकसान उठाकर भुगतना पड़ा।

बाढ़ आने से 25 दिन पहले 20 अगस्त की परिषद की बैठक में पार्षद शाकेरा खेड़ीवाला ने नीलम शाह बाबा दरगाह के वहां की रिंगवाल पर पंप लगाने को कहा था तब आपने नवीन पंप हाऊस की मंजूरी देकर फाईल चलवा दी। नगरपालिका की फाईले कैसे चलती है हम सब जानते है। आप चाहते तो चार टरबाईन पंप नगरपालिका के पास रखे हुए है। आप विभागीय कार्य करवाकर फिटिंग करवा देते व स्टोर में रखे पतरे व पाईप का शेड बना देते, 25 दिन इस कार्य के लिए बहुत थे, परंतु आपने यह भी नहीं किया। इन पंपों के लगने से न तो धानमंडी क्षेत्र डूबता, न शनि विहार कॉलोनी डूबती, न ही राजीव नगर क्षेत्र की गरीब बस्ती डूबती।
गलत आरोप है
इस पूरे मामले में नपाध्यक्ष हनीफ शेख ने बताया कि पार्षद पति द्वारा गलत आरोप लगाए गए है। उन्होंने पार्टी फोरम पर बात रखने की बात कही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned