आज डीलिस्ट होने जा रही हैं बांबे स्टाॅक एक्सचेंज से 222 कंपनियां

बॉम्बे शेयर बाजार (BSE) बुधवार से 222 कंपनियों के शेयरों को अपने प्लैटफॉर्म से हटा रहा है, इन कंपनियों के शेयरों में छह महीने से अधिक से कारोबार स्थगित है।

By: Saurabh Sharma

Updated: 04 Jul 2018, 10:35 AM IST

नई दिल्ली। जहां एक आेर केंद्र सरकार मुखौटा कंपनियों पर कार्रवार्इ कर रही है। वहीं दूसरी आेर बॉम्बे शेयर बाजार उन कंपनियों पर कार्रवार्इ करनी शुरू कर दी है जो पिछले छह महीने या उससे ज्यादा समय से कोर्इ कारोबार नहीं कर रही है। ताज्जुब की बात तो ये है कि एेसी कंपनियों की संख्या 200 के पार कर चुकी हैं। एेसे में बुधवार से बीएसर्इ इन कंपनियों को डीलिस्ट करने जा रही है। एनएसर्इ पहले ही इस तरह की कार्रवार्इ कर चुका है।

बीएसर्इ से डीलिस्ट होंगी 200 से ज्यादा कंपनियां
बॉम्बे शेयर बाजार (BSE) बुधवार से 222 कंपनियों के शेयरों को अपने प्लैटफॉर्म से हटा रहा है। इन कंपनियों के शेयरों में छह महीने से अधिक से कारोबार स्थगित है। यह कदम ऐसे समय उठाया गया है जबकि सरकार मुखौटा कंपनियों पर कार्रवाई कर रही है। वैसे 200 से ज्यादा कंपनियों को डीलिस्ट करना बीएसर्इ का बड़ा कदम माना जा रहा है। जानकारों की मानें तो केंद्र सरकार की कार्यप्रणाली आैर कंपनियों का सुस्त रवैया इस तरह की कार्रवार्इ का कारण बना है।

बीएसर्इ का ये रहा सर्कुलर
बीएसई ने सर्कुलर में कहा कि 210 ऐसी कंपनियां हैं जिनके शेयरों में छह महीने से अधिक से कारोबार नहीं हो रहा है। इन कंपनियों को 4 जुलाई, 2018 से बीएसई के प्लैटफॉर्म से हटाया जा रहा है। इसके अलावा 6 कंपनियां ऐसी हैं जिन्हें नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने अनिवार्य रूप से हटाया है।

पिछले महीनों से नहीं था कारोबार
इन कंपनियों को भी बुधवार से ही बीएसई से हटाया जा रहा है। इसके अलावा 6 ऐसी कंपनियां हैं जिनके शेयरों का कारोबार 6 महीने से अधिक से बंद है और ये परिसमापन की प्रक्रिया में हैं, को भी बीएसई से हटाया जा रहा है। ये कार्रवार्इ सूचीबद्ध और गैर सूचीबद्ध दोनों तरह की कंपनियों पर हो रही है। आपको बता दें कि मुखौटा कंपनियों का इस्तेमाल कथित रूप से गैरकानूनी धन के प्रवाह के लिए होता है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned