अक्षय तृतीया 2018: SBI की गोल्‍ड डिपोजिट स्‍कीम आपको कर सकती है मालामाल

अक्षय तृतीया 2018: SBI की गोल्‍ड डिपोजिट स्‍कीम आपको कर सकती है मालामाल

Saurabh Sharma | Publish: Apr, 17 2018 12:21:34 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 12:24:02 PM (IST) बाजार

एसबीआई की रिवैंप्ड गोल्ड डिपॉजिट स्कीम एक तरह से सोने में फिक्स डिपॉजिट की तरह है। जिससे आप कई तरह के फायदे ले सकते हैं।

नई दिल्‍ली। सर्राफा बाजारों में अक्षय तृतीया का असर दिखना शुरू हो गया है। आम जनता भी सोने में निवेश को लेकर उत्‍सुक होने के साथ सर्तक भी है। ऐसे में एसअीबाई की ओर से अपने ग्राहकों के लिए सोने में निवेश के लिए एक ऐसी स्‍कीम लेकर आई है, जिससे उसके ग्राहक मालामाल हो सकते हैं। इस स्‍कीम का नाम है एसबीआई गोल्ड डिपॉजिट स्कीम। एसबीआई की रिवैंप्ड गोल्ड डिपॉजिट स्कीम एक तरह से सोने में फिक्स डिपॉजिट की तरह है। जिससे आप कई तरह के फायदे ले सकते हैं। इस स्कीम में ग्राहक अपने सोने को सुरक्षित रख सकते हैं।

इस तर‍ह कर सकते हैं कर सकते हैं निवेश
- एसबीआई की इस स्कीम में निवेश करने के लिए ग्राहक के पास भारतीय नागरिकता होनी चाहिए।
- व्यक्तिगत या ज्वाइंट गोल्ड डिपॉजिट कैटेगरी में निवेश कर सकते हैं।
- पार्टनरशिप फर्म भी इसमें निवेश कर सकते हैं।
- साथ ही अविभाजित हिन्दू परिवार, ट्रस्ट जो सेबी रजिस्टर्ड हो, कंपनियां भी इस स्कीम में निवेश कर सकती हैं।
- निवेश करने के लिए ग्राहक को कम से कम 30 ग्राम सोना जमा करना होगा।
- एसबीआई के मुताबिक अधिकतम सोना जमा करने की कोई लिमिट नहीं है।

तीन तरह की है स्‍कीम
एसबीआई की ओर से इस स्‍कीम में भी तरह के निवेश हैं। पहला प्रकार है शॉर्ट टर्म बैंक डिपॉजिट जिसमें ग्राहक एक से तीन साल के लिए गोल्ड स्कीम में निवेश कर सकते हैं। इसे गोल्ड या फिर रुपए दोनों में बदला जा सकता है। दूसरा और तीसरा है मीडियम और लॉन्ग टर्म गवर्नमेंट डिपॉजिट। इस स्कीम के तहत ग्राहक 7 साल से लेकर 12-15 साल के लिए निवेश कर सकता है। गोल्ड डिपॉजिट केंद्र सरकार के पक्ष पर एसबीआई द्वारा स्वीकार किया जाता है। ग्राहक जब चाहे तब भारतीय रुपए में इसे प्राप्त कर सकता है। सोने की कीमत वर्तमान में चल रहे गोल्ड के रेट के आधार पर दी जाती है।

इतना मिलता है ब्‍याज
शॉर्ट टर्म बैंक डिपॉजिट के लिए वर्तमान में ब्याज दर 0.50 फीसदी प्रति वर्ष, 0.55 फीसदी दो वर्ष के लिए और 0.60 फीसदी तीन वर्ष के लिए है। वहीं मीडियम और लॉन्ग टर्म डिपॉजिट के लिए ब्याज दर 2.25 फीसदी प्रति वर्ष है। जबिक 12 से 15 साल के लिए निवेश करने पर ब्याज दर 2.50 फीसदी प्रति वर्ष हो जाती है। शॉर्ट टर्म के लिए किए गए निवेश में मूल धन और ब्याज दोनों ही सोने के रूप में नामित होने हैं। जबकि मीडियम और लॉन्ग टर्म के लिए किए गए निवेश में मूल गोल्ड के रूप में और ब्याज रुपए में नामित होता है। बता दें कि सोने पर ब्याज निवेश के समय गोल्ड रेट पर दिया जाता है।

 

Ad Block is Banned