कमरे में दुपट्टे के फंदे से झूलती मिली डीएलएड प्रशिक्षु

-मौत की वजह तलाश रही है पुलिस

मथुरा। गांव आस्थावान कुम्हेर जिला भरतपुर की रहने वाली प्रियंका पुत्री चन्द्रभान 18 वर्ष कमरे में लगे पंखे के हुक में दुपट्टे का फंदा बनाकर फांसी के फंदे पर झूल गई। ग्रामीणों ने बताया कि प्रियंका अपनी छोटी बहन के साथ गांव राल में रहकर महर्षि दयानंद सीनियर सेकेंड्री स्कूल से डीएलएड की पढ़ाई कर रही थी।

यह भी पढ़ें- सीएचसी अछ्नेरा में मानवता हुई तार-तार, गर्भवती महिला को इलाज की जगह मिली दुत्कार

बुधवार को छोटी बहन घर पर गई हुई थी। उसी के बगल वाले कमरे में एक छात्रा सपना भी रह रही थी। सपना जब स्कूल से अपनी पढ़ाई करके लौटी तो प्रियंका ने अंदर से गेट बन्द कर रखा था। काफी देर तक वह गेट को खटखटाती रही, लेकिन जब गेट नहीं खुला तो उसने अपने साथ पढने वाले छात्रों को बुलाया और आसपास के ग्रामीणों को बताया। ग्रामीणों ने छत के ऊपर लगे जाल को तोड़कर कमरे में अंदर प्रवेश किया तो प्रियंका फाँसी के फंदे पर झूलती हुई मिली। इसकी सूचना तुरन्त इलाका पुलिस को दी गई। सूचना पर सीओ सदर रमेश कुमार तिवारी, प्रभारी निरीक्षक वृन्दावन संजीव कुमार दुवे, जैत चैकी प्रभारी नीरज भाटी भी घटना स्थल पर पहुंचे। शव को कुंदे से नीचे उतारकर उसका पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस ने इसकी सूचना छात्रा के परिजनों को दी तो वह भी मौके पर पहुंच गए। आखिर छात्रा ने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया यह कोई नहीं बता पाया। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned