बच्ची के शव के साथ भी दरिंदे ने किया दुष्कर्म, आरोपी का होगा साइको टेस्ट

Highlights

- अनुसूचित जाति की बच्ची से दुष्कर्म मामले की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा

- पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, मासूम के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोट

- बच्ची से कई बार किया गया थादुष्कर्म

By: lokesh verma

Published: 02 Dec 2020, 11:48 AM IST

मथुरा. वृंदावन कोतवाली क्षेत्र में 26 नवंबर को अनुसूचित जाति की बच्ची से दुष्कर्म मामले की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, बच्ची के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोटें आईं हैं। आशंका है कि हैवान ने बच्ची से कई बार दुष्कर्म किया था। इतना ही नहीं बच्ची के शव के साथ भी दुष्कर्म किया गया था। पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी के वहशी होने की आशंका है। अब पुलिस उसका साइको टेस्ट कराएगी।

यह भी पढ़ें- पेट्रोल छिड़ककर बहू ने सास को जलाया जिंदा, चीखें सुनकर सहम गए लोग, हालत गंभीर

उल्लेखनीय है कि वृंदावन में मल्टी स्टोरी पार्किंग के नजदीक गांव सुनरख के जंगल में 27 नवंबर को गांव से लापता आठ वर्षीय बच्ची का रक्तरंजित शव मिला था। बच्ची से दुष्कर्म के बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। इस दरिंदगी के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था, जो जंगल में ही घूमता रहता था। बच्ची के परिजनों ने भी उसी पर शक जताया था। परिजनों का आरोप था कि वह व्यक्ति जंगल में लकड़ी लेने आने वाली बच्चियों और महिलाओं पर बुरी नजर रखता था। एसपी सिटी उदय शंकर सिंह ने बताया कि जांच के बाद पकड़े गए आरोपी के वहशी होने की आशंका है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, मासूम के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोट है। इससे साफ है कि बच्ची से कई बार दुष्कर्म किया गया था। इसके अलावा बच्ची का शव जिस हाल में मिला था, उससे ऐसा प्रतीत होता है कि निढाल शरीर के साथ भी दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया था। यानी शव के साथ भी दुष्कर्म हुआ था। पुलिस के अनुसार आरोपी मानसिक रूप से बीमार लग रहा है। इसलिए उसका साइको टेस्ट कराया जाएगा।

धरने पर बैठे बच्ची के परिजनों ने की ये मांग

बच्ची से दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में परिजन धरने पर बैठे हैं। इस दौरान परिजनों दरिंदगी के अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार करने की मांग की। दरअसल, परिजन पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। परिजनों का आरोप है कि इस दरिंदगी को अंजाम देने वाला कोई एक नहीं है। पुलिस अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार करे। जब तक उनकी गिरफ्तारी नहीं होती धरना जारी रहेगा। वहीं, पुलिस ने परिजनों के धरने को देखते हुए पीड़ित परिवार के घर के आसपास और गांव में पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया है। पुलिस अधिकारी गांव पहुंचकर परिजनों से बातचीत कर रहे हैं। इसके साथ ही एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने एसआईटी भी गठित की है।

यह भी पढ़ें- तेज रफ्तार वाहन ने मारी टक्कर, मौके पर पति-पत्नी और बहन की मौत, पुलिस ने शुरू की कार्रवाई

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned