जाया नहीं जाएगी मथुरा के लाल की शहादत, पाक को दिया जाएगा मुंहतोड़ जवाब: श्रीकांत शर्मा

Amit Sharma | Updated: 15 Aug 2018, 03:16:18 PM (IST) Mathura, Uttar Pradesh, India

ऊर्जामंत्री ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से गोली चलेगी तो यहां से गोले दागे जाएंगे, फौज को दिल्ली की तफर देखने की, पीछे मुड़ने की जरूरत नहीं है।

मथुरा। उत्तर प्रदेश के ऊर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा मथुरा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मथुरा के लाल पुष्पेंद्र की शहादत पर कहा कि पाकिस्तान की नापाक हरकत का करारा जवाब दिया जाएगा। साथ ही प्रदेश में बिजली व्यवस्था के सवाल पर कहा कि यूपी की विद्युत व्यवस्था देश में सबसे बेहतर होगी। इसके लिए विदेशी कंपनियों का भी सहयोग लिया जा रहा है। आने वाले 35 से 40 सालों के लिए बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है।

फौज को पीछे मुड़कर देखने की जरूरत नहीं

बॉर्डर पर चल रही तनातनी पर उन्होंने कहा कि वहां से गोली चलेगी तो यहां से गोले दागे जाएंगे, फौज को दिल्ली की तफर देखने की, पीछे मुड़ने की जरूरत नहीं है। 700 आतंकियों को मौत के घाट उतारा जा चुका है। मथुरा के लाल पुष्पेंद्र सिंह की शहादत का बदला दो पाक सैनिकों को मौत के घाट उतार कर लिया गया है। जरूरत पड़ेगी तो सर्जिकल स्ट्राइक भी की जाएगी। सरकार में संघ के हस्तक्षेप पर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि संघ भाजपा का मार्गदर्शक संगठन है वहीं से हमें काम करने की प्रेरणा मिलती है। वहीं से हमें प्रेरणा मिली है कि अब मथुरा, काशी, अयोध्या की उपेक्षा नहीं होगी, ये हमारी प्राथमिकताओं में हैं।

हमारा प्रयास प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को सबसे बेहतर बनाना

ऊर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा ने स्वतंत्रता दिवस पर कान्हा की नगरी को 40 करोड़ की सौगात दी है। इस धनराशि से उन क्षेत्रों की विद्युत लाइनों को अंडर ग्राउंड किया जाएगा जहां ओपन तारों से ज्यादा परेशानी हो रही है। इसके बाद इस प्रोजेक्ट का विस्तर कर नये क्षेत्रों को भी इस योजना से जोड़ा जाएगा। स्वतंत्रता दिवस पर विकास मार्केट स्थित गांधी प्रतिमा पर आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास उत्तर प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को प्रदेश में सबसे बेहतर बनाना है। इसके पीछे मक्सद मथुरा की विद्युत व्यवस्था को चाकचौबंद करना है। बिजली घर के प्रोजेक्ट लेकर आ रहे हैं, अगले 40 साल तक सुचारू बिजली मिलती रहे ऐसी व्यवस्था करनी है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned