समय पर विवेचनाओं का निस्तारण न करना पड़ा महंगा, तीन थानाध्यक्षों पर होगी कार्यवाही

सीओ घोसी के खिलाफ भी हो रही है जांच।

मऊ. समय पर विवेचनाओं का निस्तारण न करना मऊ जिले के तीन थानाध्यक्षों को महंगा पड़ने वाला है। तीनों पर गाज गिर सकती है। घोसी, कोपागंज व हलधरपुर एसओ को सात दिन की मोहलत दी गयी है। साथ ही एसपी ने एएसपी को जांच कराने का निर्देश दिया है। इस जांच के दायरे में सीओ घोसी पर भी गाज गिरने की संभावनी बनी हुई है।

बतादें कि बीते त्योहारों को सकुशल सम्पन्न कराने में मऊ जिले की पुलिस काफी व्यस्त थी। इसके चलते सभी थानों पर कई विवेचनाओं का बढ गया था। पेंडिंग कामों को निपटाने के लिये पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य़ ने सभी थानों पर रविवार के दिन विवेचनाओं का निस्तारण करने का आदेश दिया था। इस आदेश का पालन करते हुए जिले के सभी थानों ने बेहतर प्रदर्शन किया। लेकिन घोसी, कोपागंज और हलधरपुर थाने का प्रदर्शन बेहतर नहीं रहा। जिसके बाद एसपी ने अपर पुलिस अधीक्षक एस के श्रीवास्तव को जांच का आदेश दिया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद संबंधित थानाध्यक्ष पर कार्य़वाही की गाज गिरेगी। इसी के साथ इस जांच के दायरें में सीओ घोसी भी आ रहे है। जिनके उपर भी कार्य़वाही की जा सकती है।

इस पूरे मामले पर पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य़ ने बताया कि त्योहारों पर पुलिस की ड्यूटी ज्यादा लगी थी। इसलिए रविवार को विवेचना विस्तारण दिवस के रुप में रखा गया था। क्योकि रविवार के दिन पुलिस की ड्यूटी कम रहती है। इसके साथ ही जनता भी इस दिन खाली रहती है। इस दिन अच्छा रिजल्ट भी देखने को मिला। एक दिन के अन्दर पूरे जनपद से 93 विवेचनाएं निस्तारित की गयीं, जिसमें नगर कोतवाली ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए 20 मामलों का निस्तारण किया। पर तीन थानों ने अपना प्रदर्शन अच्छा नही दिखाया। जिनके उपर प्रारम्भिक जांच कराया जा रहा है। सीओ घोसी ने भी बेहतर कार्य नहीं किया। उनके खिलाफ भी जांच की जा रही है।

By Correspondence

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned