भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर की मुस्लिमों से नजदीकी बढ़ने पर गरमाई राजनीति

भाजपा सरकार में दलितों और मुस्लिम समाज के साथ हो रहे अन्याय ने मिला दिया हाथ

By: Iftekhar

Updated: 18 Sep 2018, 05:23 PM IST

मेरठ. जेल से रिहा होकर आए भीमआर्मी के मुखिया चंद्रशेखर से राजनीति और सामाजिक हस्तियों के मिलने का सिलसिला जारी है। प्रतिदिन कोई न कोई उनके पास मिलने और समर्थन देने पहुंच रहा है। देश के प्रत्येक प्रांत और राजधानी से भी कई संगठन चंद्रशेखर से मिलने के बाद अपना समर्थन देने की बात कही है। वहीं, अब मुस्लिम समाज के संगठन ने भी भीम आर्मी प्रमुख से मिलकर समर्थन देने की बात कही है। यह समाज है अंसारी समाज। तमाम मुस्लिम संगठन भीम आर्मी को समर्थन देकर भाजपा को शिकस्त देने के लिए प्रयासरत हैं। अंसारी समाज के राष्ट्रीय महासचिव गुलफाम अंसारी ने भी सहारनपुर जाकर चंद्रशेखर से मुलाकात की। गुलफाम ऑल इण्डिया मोमिन कांफ्रेंस के राष्ट्रीय महासचिव हैं। उन्होंने चन्द्रशेखर से मिलकर आगामी लोकसभा चुनाव में भीम आर्मी को समर्थन देने की घोषणा की। बताते चले कि तमाम मुस्लिम संगठनों के भीम आर्मी के साथ आने से उसकी ताकत बढ़ती जा रही है। अंसारी समाज ने भीम आर्मी को खुलेआम समर्थन देकर पश्चिम उप्र की राजनीति को गरमा दिया है।

यह भी पढ़ें- दो धर्म के प्रेमी युगल जा रहे थे शादी रचाने, हिन्दूवादी संगठन ने रास्ते में ही कर दिया ये काम

इस जिलों में हैं अंसारी समाज की भारी वोटे
पश्चिम उप्र में अंसारी बिरादरी की अच्छी खासी वोट मानी जाती है। मुस्लिम समाज में यही समाज ऐसा है, जिसकी वोटों की तादात सर्वाधिक है। वह भी पश्चिम उप्र में। मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर, बागपत, बुलंदशहर आदि जिलों में मुस्लिम अंसारी की अच्छी खासी संख्या है। सूत्रों के अनुसार मुस्लिम वोटों में इनका प्रतिशत 19.5 प्रतिशत के करीब है। मुस्लिम वोटों का इतना प्रतिशत किसी भी चुनाव में प्रत्याशी के हार-जीत का पासा पलट सकता है। ऐसे में भीम आर्मी को अंसारी बिरादरी द्वारा समर्थन देने से दूसरे दलों में खलबली मचना स्वभाविक है। मंगलवार को चंद्रशेखर से मिलने के लिए उनके आवास पर पहुंचे ऑल इण्डिया मोमिन कांफ्रेंस के राष्ट्रीय महासचिव गुलफाम अंसारी ने पत्रिका से हुई बातचीत में बताया कि चंद्रशेखर ने अभी चुनाव लड़ने या किसी के समर्थन की कोई इच्छा जाहिर नहीं की है। लेकिन हम चंद्रशेखर के साथ हैं। आज भीम आर्मी और मोमीन दोनों ही भाजपा के राज में प्रताड़ित हो रहे हैं। ऐसे में दोनों को एक मंच पर आना निहायत ही जरूरी है।

यह भी पढ़ेंः मायावती ने महागठबंधन को दिया बड़ा झटका, इस बयान के बाद सहयोगियों में सुगबुगाहट तेज

राष्ट्रीय महासचिव ने चंद्रशेखर को भरोसा दिलवाया कि अंसारी समाज उनके साथ है और 2019 के लोकसभा चुनाव में अंसारी समाज अपना समर्थन भीम आर्मी को देंगा। पश्चिम उत्तरप्रदेश प्रभारी अरशद अंसारी ने कहा कि जितना अन्याय भाजपा सरकार में दलितों के साथ हो रहा है, उससे कहीं अधिक मुस्लिम अंसारी बिरादरी के साथ हो रहा है।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned