शर्मनाक: दिल्ली के बाद अब मेरठ में चलती बस में महिला के साथ पूरी रात गैंगरेप

Highlights

बस चालक और परिचालक ने दिया घटना को अंजाम

महिला को पहले पिलाई नशील कोल्ड ड्रिक

ससुराल से मायके जाने के लिए बस स्टैंड से बस में हुई थी सवार

By: Rahul Chauhan

Published: 26 Sep 2020, 03:39 PM IST

मेरठ। जिले में एक महिला के साथ चलती बस में गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। गैंगरेप का आरोप बस के ड्राइवर और कंडेक्टर पर लगाया गया है। आरोप है कि दोनों ने महिला को नशीली कोल्ड ड्रिक पिलाकर घटना को अंजाम दिया। आरोपी पूरी रात चलती बस में महिला से दुष्कर्म करते रहे। महिला ने बेहोशी मे भी चिल्लाने की कोशिश की लेकिन किसी ने उसकी आवाज नहीं सुनी। आरोपी इसके बाद पीड़ित महिला को दिल्ली रोड पर मेवला पुल के पास फेंक गए। पीड़ित महिला पुलिस को गश्त के दौरान सड़क पर पड़ी मिली तो उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां पर होश में आने पर उसने पूरे वाकये को बताया। महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। महिला अपने ससुराल से मायके जाने के लिए भैंसाली बस स्टैंड से बस में सवार हुई थी।

प्रयागराज के मिर्जापुर की रहने वाली महिला की शादी सरधना थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई थी। महिला के दो बच्चे भी है। गत शुक्रवार की शाम चार बजे महिला सरधना से अपने मायके प्रयागराज जाने के लिए घर से निकली थी। जो सदर बाजार स्थित भैंसाली बस स्टैंड से बस में सवार हुई। महिला का कहना है कि बस में उसके अलावा कोई सवारी नहीं थी। बस के चालक और परिचालक ने उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाया। उसके बाद रातभर चलती बस में महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया। सुबह होते ही महिला को दिल्ली रोड स्थित मेवला पुल के पास फेंक दिया।

महिला सड़क किनारे बदहवास हालत में पड़ी थी। वहां से गुजरते हुए लोगों ने कंट्रोल रूम को काल की। उसके बाद ब्रह्मपुरी पुलिस मौके पर पहुंची। महिला का एंबुलेंस में जिला अस्पताल ले जाया गया। एंबुलेंस का चालक महिला को अस्पताल के गेट पर छोड़कर चला गया। महिला की हालत गंभीर देखकर इमरजेंसी में भर्ती कराया गया। एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने महिला के बयान दर्ज किए। एसपी सिटी ने बताया कि महिला के परिवार को सूचना दे दी गई है। मुकदमा दर्ज कर आरोपी चालक और परिचालक को तलाशा जा रहा है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned