पुलिस से सेटिंग की वजह से युवा पीढ़ी को बिगाड़ रहा खादर क्षेत्र में पनप रहा यह धंधा

पुलिस नहीं रोक पा रही बड़े स्तर पर चल रहे इस धंधे को, पड़ोसी राज्य के लोग भी यहां से जुड़े

 

By: sanjay sharma

Published: 25 Apr 2018, 11:53 PM IST

मेरठ। मेरठ का खादर क्षेत्र खासकर किठौर और मवाना अवैध शराब तस्करों का अड्डा बना हुआ है। सरकार के सख्त निर्देशों के बावजूद मवाना- किठौर क्षेत्र में अवैध शराब का धंधा बड़े पैमाने पर हो रहा है। अभी कुछ दिन पहले गाजियाबाद में इसी तरह की अवैध शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो चुकी है। उसके बाद भी हरियाणा व अन्य प्रान्तों से तस्करी कर लायी गर्इ शराब क्षेत्र में माफियाओं द्वारा सप्लाई की जा रही है। शहर से लेकर गांवों तक अवैध शराब धड़ल्ले के साथ बिक रही है। सूत्रों का कहना है कि शराब का धंधा खाकी की मिली भगत से बाखूबी पनप रहा है।

यह भी पढ़ेंः मायावती ने भूमिहीनों को पट्टे की जमीन दिलार्इ थी, कोर्ट से जीतने के बाद भी अफसर कब्जा नहीं दिला रहे!

यह भी पढ़ेंः इनसे भी महीना बांधने पहुंच गया सिपाही, जमकर हुआ हंगामा

एक साल बाद धंधा पटरी पर लौटा

प्रदेश में भाजपा सरकार एक वर्ष पूरा कर चुकी है, परन्तु सरकार के अधिकारियों को सख्त निर्देश के बावजूद अपराध कम होने का नाम नहीं ले पा रहा। किठौर क्षेत्र में काफी समय से हरियाणा, पंजाब आदि कई प्रांतों से तस्करी कर अवैध शराब का धंधा चलाया जाता रहा है। एक वर्ष पूर्व प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद कुछ समय के लिए शराब माफियाओं का यह धंधा पूरी तरह चैपट हो गया था, परन्तु अब फिर पुराने ढर्रे पर शराब का धंधा पनप चुका है। सूत्रों पर विश्वास किया जाए तो अवैध शराब के धंधे से जुड़े लोग खाकी से सेटिंग-गेटिंग होने बाद फिर से धंधा शुरू करते हुए मोटी कमाई करने में जुट गए है।

यह भी पढ़ेंः कार्रवार्इ की मांग करते-करते एसएसपी कार्यालय पर बेहोश हो गर्इ गुलनाज!

दो वर्ष पूर्व पकड़ी गर्इ थी शराब पैकिंग फैक्ट्री

बताया गया है कि कई नामचीन ब्रांडों की शराब गुप्त स्थान पर तैयार कर पैकिंग के बाद लेबल लगाकर तैयार की जाती है। उसे आसपास के क्षेत्र में परोसा जाता रहा है। इसी तरह की एक अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री का दो वर्ष पूर्व किठौर पुलिस ने भंडाभोड़ करते हुए हसनपुर कलां के निकट एक टयूबवेल से भारी मात्रा में बनी हुई शराब और विभिन्न ब्रांडों के लेबल के साथ पैकिंग करने वाली मशीन जब्त की थी। जिसमें कई तरह की शराब तैयार करने के फ्लेवर व रसायन भी बरामद हुए थे। पुलिसिया जांच में उक्त रसायन और फ्लेवर को जहरीला पदार्थ बताया गया था।

यह भी पढ़ेंः यहां इसलिए आ गए हजारों मरीज, सरकारी अस्पताल तो हांफते ही रह गए, वजह जानिए

एक महीने में पकड़ी गई लाखों की शराब

पिछले एक माह में किठौर और मवाना क्षेत्र में लाखों रुपये की अवैध शराब पुलिस विभाग और आबकारी विभाग बरामद कर चुका है। दो माह पूर्व इसी तरफ से शराब की पेटियों से भरा एक ट्रक बिजली के तार की चपेट में आ गया था, जिससे उसमें आग लग गई थी। तब जाकर राज खुला था कि उसमें शराब की पेटियां भरी हुई थी।

यह भी पढ़ेंः कुख्यात इनामी के इस शहर से जुड़े थे तार, सांठगांठ की वजह से यहां कभी पकड़ा नहीं गया!

इनकी सुनिये

अवैध शराब की तस्करी के बारे में एसपी देहात राजेश कुमार का कहना है कि समय-समय पर पुलिस इसके खिलाफ अभियान चलाती रहती है। आगे भी अभियान जारी रहेगा। जिला आबकारी अधिकारी एके सिंह का कहना है कि इन क्षेत्रों में विभाग बराबर अभियान चलाता रहता है। यदि किसी को इन तस्करों के बारे में कोई सूचना मिलती है तो वह गुप्त रूप से हमें सूचना दे सकता है।

sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned