मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में अब तक ये सबूत मिले, अब इस एंगल पर काम कर रही पुलिस

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में अब तक ये सबूत मिले, अब इस एंगल पर काम कर रही पुलिस

Sanjay Kumar Sharma | Publish: Sep, 22 2018 09:37:39 AM (IST) | Updated: Sep, 22 2018 09:37:40 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में यूपी, उत्तराखंड, दिल्ली आैर हरियाणा पुलिस जांच में जुटी हुर्इ

मेरठ। बागपत जिला कारागार में पूर्वांचल के डाॅन मुन्ना बजरंगी की हत्या की गुत्थी नहीं सुलझ पा रही है। इस गुत्थी को सुलझाने में यूपी, दिल्ली, हरियाणा आैर उत्तराखंड की पुलिस ने काफी माथापच्ची की आैर हर हत्या से जुड़े बिन्दु की जांच पड़ताल की, लेकिन हत्या की गुत्थियों को पुलिस नहीं सुलझा पा रही है। इस संबंध में चारों राज्यों की पुलिस ने मुन्ना बजरंगी आैर सुनील राठी के कर्इ ठिकानों पर दबिशें डाल चुकी है आैर इनके गुर्गों से पूछताछ कर चुकी है, लेकिन अभी तक डाॅन मुन्ना बजरंगी की हत्या अनसुलझे सवालों में उलझी हुर्इ है।

यह भी पढ़ेंः मेरठ में बसपा नेता को गोलियों से भूना, चेकिंग कर रहे पुलिसकर्मी डरकर एटीएम में जा छिपे

यह भी पढ़ेंः मेरठ में बसपा नेता की हत्याः गोलियां लगने के बाद 800 मीटर दौड़ता रहा, पुलिस छिपकर बैठी रही

अब इस एंगल पर रही काम

डाॅन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या के बाद कुख्यात सुनील राठी के ठिकानों पर दबिशें आैर उसके गुर्गों से पूछताछ के बाद भी पुलिस खाली हाथ है। दरअसल, जेल में मुन्ना बजरंगी की जिस पिस्टल से हत्या हुर्इ थी, जेल में बरामद पिस्टल से अगर गोली नहीं चली तो हत्या में प्रयुक्त पिस्टल गया कहां, इसको लेकर पुलिस उलझी हुर्इ है। पुलिस को पता चला कि मुन्ना के साथ छत्तीस का आंकड़ा रखने वाले सुनील राठी के उत्तराखंड आैर दिल्ली में कर्इ ठिकाने हैं आैर उन दिनों वह यहां सक्रिय भी था। उससे जुड़े कर्इ शार्प शूटर भी दोनों राज्यों में है। पुलिस अब इस एंगल पर दोबारा काम कर रही है। साथ ही उन लोगों से भी पूछताछ करेगी, जो लोग जेल में राठी से मिलने आते थे। यूपी पुलिस ने उत्तराखंड, दिल्ली आैर हरियाणा के साथ-साथ पूर्वी यूपी के कर्इ इलाकों में भी कर्इ ठिकानों पर छापे मार चुकी है। पुलिस सूत्रों की मानें तो इन बिन्दुआें पर फिर से काम करके मुन्ना बजरंगी की हत्या की कड़ियां जोड़ने की कोशिश की जाएगी। एेसा करने से सफलता मिल सकती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned