परंपरागत तरीके से हुआ रावण और कोरोना के पुतले का दहन, देखें वीडियो-

- महानगर के कई स्थानों पर हुआ कार्यक्रम का आयोजन
- न मेले लगे न लगी भीड़, लोगों ने दी दशहरे की शुभकामनाएं
- पंचक में हुआ रावण का दहन

By: lokesh verma

Published: 26 Oct 2020, 06:11 PM IST

Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

मेरठ। इस बार दशहरे पर पूरी तरीके से माहौल बदला रहा। इस बार न तो सड़कों पर रावण दहन के बाद कोई भीड़ और शोरगुल दिखाई दिया और न किसी पार्क में बच्चों का कोई कार्यक्रम आयोजन दिखा। दशहरे पर परंपरागत तरीके से दशहरा मैदान में रविवार को रावण दहन किया गया। मेरठ के प्रमुख रावण दहन कार्यक्रम स्थलों पर कोरोना महामारी के पुतले को भी जलाया गया। कोरोना संक्रमण काल में यह पहला मौका था, जब न भीड़ दिखी और न ही मैदान पर मेला लगा। औपचारिकता निभाते हुए अतिथियों ने दशहरे की शुभकामनाएं दीं और कोरोना से बचने के लिए गाइड लाइन का पालन करने का आह्वान किया।

दशहरा मैदान पर रावण दहन के पहले कोरोना रूपी पुतले का दहन किया गया। इस वर्ष परंपरागत तरीके से हटकर कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले भी नहीं थे। यह भी पहला ही मौका था, जब राम, लक्ष्मण या कोई अन्य कलाकार भी मैदान पर नहीं पहुंचे। रावण दहन प्रक्रिया में औपचारिकता निभाई गई। रविवार को लगभग सात बजे आयोजन समिति ने रावण व कोरोना के पुतले को मैदान पर रखा। इसके बाद शाम को शाम को पुतला दहन किया। लगभग सात मिनट में पुतले जल गए। इस वर्ष रावण की ऊंचाई भी कम ही रखी गई थी।

coronavirus
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned