UP Budget 2020: मेरठ रैपिड मेट्रो के लिए योगी सरकार ने दिए 900 करोड़, राज्य स्मार्ट सिटी में शामिल होगा शहर

Highlights

  • उत्तर प्रदेश के बजट में मेरठ को मिली सौगात
  • मेरठ- प्रयागराज एक्सप्रेसवे बजट में शामिल
  • दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल 2023 तक शुरू होगी

 

By: sanjay sharma

Updated: 18 Feb 2020, 04:44 PM IST

मेरठ। UP Budget 2020-21 में मेरठ के लिए योगी सरकार ने दिल खोल दिया है। मेरठ रैपिड मेट्रो के लिए प्रदेश सरकार ने 900 करोड़ रुपये बजट में दिए हैं। वहीं मेरठ को राज्य की स्मार्ट सिटी में भी शामिल करने की घोषणा की गई है। सरकार ने प्रदेश में इनर रिंग रोड और बाईपास के लिए भी 170 करोड़ रुपये का बजट आवंटन किया है। इस बजट में मेरठ में भी इनर रिंग रोड का निर्माण प्रस्तावित है। जिसका प्रोजेक्ट प्रशासन की तरफ से एनएचएआई को भेज दिया है।

यह भी पढ़ेंः VIDEO: मेरठ में जमातियों पर शरारती तत्वों के हमले के बाद हंगामा, तीन घायल, फोर्स तैनात

पिछले दिनों प्रदेश के उपमुख्यमंत्री और लोकनिर्माण मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर मेरठ में इनर रिंग रोड बनाए जाने के लिए निवेदन किया था। इस बजट आवंटन के बाद मेरठ में भी इनर रिंग रोड बनाए जाने को बल मिला है। दिल्ली मेरठ रैपिड रेल के लिए एक बार फिर बजट में धन आवंटन के बाद निर्माण में गति आएगी। जिससे वर्ष 2025 में दिल्ली से मेरठ का सफर महज 55 मिनट में पूरा हो सकेगा।

यह भी पढ़ेंः विश्वविद्यालय की छात्रा से दुष्कर्म के आरोपों की जांच अब करेगी मेरठ पुलिस, बेहोशी के कारण नहीं हुए बयान

रैपिड रेल चलने के बाद प्रतिदिन मेरठ से दिल्ली करीब सात लाख यात्री सफर करेंगे। इससे पहले केंद्र सरकार के आम बजट में भी रैपिड रेल के लिए धन आवंटन की व्यवस्था की गई है। एनसीआरटीसी ने वर्ष 2023 तक दिल्ली से मेरठ तक रैपिड रेल चलाने का दावा किया है। मेरठ से प्रयागराज तक बनाए जाने वाले गंगा एक्सप्रेस वे को भी बजट में शामिल कर लिया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि मेरठ से प्रयागराज को जोडऩे वाला यह एक्सप्रेस वे देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस वे होगा।

budget 2020
Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned