Amarnath Yatra : बाबा बर्फानी के भक्तों का होगा कोरोना टेस्ट, घर बैठे होंगे हिमलिंग का दर्शन

  • पहली बार DD पर सुबह-शाम होगा दिव्य आरती का लाइव प्रसारण।
  • Corona की वजह से सीमित भक्तों को दी जाएगी पवित्र गुफा तक जाने की अनुमति।
  • इस बार यात्रा की अवधि को कम कर 21 जुलाई से 3 अगस्त कर दिया गया है।

नई दिल्ली। इस बार आतंकी खतरों और कोरोना वायरस संकट ( Coronavirus Pandemic ) के बीच बाबा अमरनाथ ( Baba Amarnath Yatra ) के भक्त पवित्र यात्रा करेंगे। लेकिन बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए एक खुशखबरी है। अब भक्तों को घर बैठे ही बाबा के दर्शन होंगे।

इस यात्रा की अवधि को कोरोना के की वजह से छोटा कर दिया गया है। अमरनाथ यात्रा को लेकर अभी बैठक होनी है। इस बीच बाबा के भक्तों के लिए अच्छी खबर (Good news for devotees ) यह है कि 5 जुलाई से पवित्र गुफा ( Holy cave ) में सुबह-शाम दिव्य आरती शुरू होने जा रही है। दिव्य आरती का पहली बार दूरदर्शन पर प्रसारण होगा।

छवि सुधारने की तैयारी : अब तय समय से चलेंगी भारतीय रेल की ट्रेनें, स्टॉपेज भी होंगे कम

बाबा के भक्त घर बैठे पवित्र हिमलिंग ( Holy snowing ) के दर्शन कर पाएंगे। दिल्ली दूरदर्शन पर सुबह 6 बजे और शाम 7 बजे आरती का लाइव प्रसारण होगा। श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड ( Shri Amarnath Ji Shrine Board ) ने दूरदर्शन के साथ मिलकर प्रबंध कर लिए हैं। इसके लिए तैयारी पूरी हो चुकी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अभी यात्रा को लेकर बोर्ड की बैठक नहीं हुई है। इसके बावजूद माना जा रहा है कि 21 जुलाई से 3 अगस्त तक यात्रा होगी।

अमरनाथ यात्रा ( Amarnath Yatra ) के लिए कठुआ के लखनपुर में भक्तों का कोरोना टेस्ट ( Corona Test ) होगा। इस बार बुजुर्ग यात्रियों को इस यात्रा में शामिल होने की अनुमति नहीं है। यात्रा मार्ग पर सुरक्षाबलों ( Security Forces ) को तैनात कर दिया गया है।

क्या है आत्मनिर्भर भारत ऐप्स का मास्टर प्लान, इसे क्यों माना जा रहा है बड़ी चुनौती?

2 दिन पहले ही सरकार की तरफ से 6 अफसरों को डिप्टी कैंप डायरेक्टर तैनात करके यात्रा ड्यूटी पर भेज दिया गया है। प्रशासन की एक टीम लखनपुर में लगा दी गई है। जोकि बाहर से आने वाले भक्तों का टेस्ट करवाने के लिए उनके रहने और खाने-पीने का इंतजाम करेगी। उसके बाद ही भक्तों को आगे भेजा जाएगा।

बाबा बर्फानी ( Baba Barfani ) के भक्तों को जम्मू में न रखकर सीधा कश्मीर में भेजने का प्लान है। ताकि शहर में भीड़ न हो सके। इस प्रकार से कई इंतजाम किए गए हैं। बस अब यात्रा की घोषणा करना रह गया है।

आगामी सप्ताह बोर्ड की बैठक ( Board Meeting ) होनी है। हर साल छड़ी मुबारक का नेतृत्व करने वाले श्रीनगर ( Shrinagar ) में दशनामी अखाड़े के महंत देंपेंद्र गिरि जी महाराज व्यास पूर्णिमा पर 5 जुलाई को लिद्दर नदी किनारे पूजा अर्चना करेंगे।

Coronavirus Pandemic
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned