कोरोना से जंग: घरेलू सप्लाई के साथ अब भारत शुरू करेगा वैक्सीन डिप्लोमेसी

  • अभी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन भेजने का सरकार ने किया है फैसला
  • इन देशों में वैक्सीन के दुष्प्रभाव हुए तो कंपनी उठएगी जिम्मेदारी

मुकेश केजरीवाल

नई दिल्ली. डॉक्टरों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कोरोना टीका लगाए जाने के साथ ही अब भारत ने कुछ देशों को मदद के तौर पर इसकी सप्लाई भी करने का फैसला किया है। इन देशों को अभी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन भेजी जाएगी। फिलहाल टीकों की लगभग 8.10 लाख खुराक मदद के तौर पर मुफ्त देने का फैसला किया गया है। एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सरकार चाहती है कि टीका बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक इन देशों में भी दुष्प्रभावों के मामलों की जिम्मेदारी ले। साथ ही इन देशों में होने वाले टीकाकरण के प्रभाव पर भी नजर रखी जाए।
भारत बायोटेक से सरकार इन्हें 295 रुपये प्रति डोज के हिसाब से खरीद रही है। खरीद से ले कर इन देशों की सप्लाई तक की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, रसायन और उर्वरक मंत्रालय के औषधि विभाग और विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के बीच लगातार बैठकें हो रही हैं। सरकार का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय कूटनीति के लिहाज से यह एक अहम कदम होगा। साथ ही भारत की सॉफ्ट पावर को बढ़ाएगा।

नेपाल पर स्थिति स्पष्ट नहीं: नेपाल के साथ संबंधों में आए तनाव का असर यहां भी दिखा है। इस पड़ोसी देश की आबादी और जरूरत बहुत कम है। साथ ही दो दिन पहले ही नेपाल के विदेश मंत्री ने अपने भारत दौरे में भी टीकों की सप्लाई का अनुरोध किया है। इसके बावजूद भारत ने शुरुआती देशों की सूची में उसे शामिल नहीं किया है।

कई देशों की पसंद कोविशिल्ड : ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका सहित कई बड़े देशों ने भी भारत से टीकों की सप्लाई का अनुरोध किया है। लेकिन इनमें से कुछ देश सिर्फ सीरम इंस्टीट्यूट की ओर से बनाई जा रही ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका के कोवीशिल्ड में ही दिलचस्पी ले रहे हैं। इस टीके की सप्लाई को ले कर अभी कोई फैसला नहीं किया गया है।

वाघा-अटारी बॉर्डर पर बीटिंग रिट्रीट का आयोजन नहीं
गणतंत्र दिवस पर वाघा-अटारी बॉर्डर पर बीटिंग रिट्रीट का आयोजन नहीं होगा। कोरोना वायरस को देखते हुए लोगों के आने पर भी रोक लगाई है। वाघा-अटारी बॉर्डर पर 1959 में इस समारोह की शुरुआत की गई थी।

जून के बाद एक दिन में सबसे कम नए केस
देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 13,788 नए केस आए। जून के बाद एक दिन में कोरोना के नए मामलों की सबसे कम संख्या है। स्वस्थ होने की दर 96.59 प्रतिशत है। एक्टिव केस कुल संक्रमितों के 1.97 फीसदी रह गए हैं।

अब तक 3.81 लाख को लगह वैक्सीन : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार शाम बताया कि 16 जनवरी से अब तब देश में 3,81,305 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। 580 लोगों में साइड इफेक्ट सामने आए जिनमें से 7 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इन देशों को मिलेगी हमारी स्वदेशी वैक्सी
अफगानिस्तान, भूटान, बांग्लादेश, सेशल्स, म्यांमार, मंगोलिया, ओमान, बहरीन, फिलीपींस, मालदीव, मॉरिशस

हम टॉप-5 देशों मे
भारत टॉप 5 वैक्सीन निर्माता देशों में है। यूके, चीन, अमेरिका, रूस पहले ही टीके तैयार कर चुके हैं।

कितने को टीका
अमरीका 1.43 करोड़, 14 दिसंबर, 2020
रूस 15 लाख 05 सिंतबर, 2020
फ्रांस 4.22 लाख 27 दिसंबर, 2020
इटली 11.53 लाख 27 दिसंबर, 2020

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned