अब गाड़ियों के धुंए से नहीं होगा पॉल्यूशन, 1 अप्रैल 2018 से नई क्वालिटी का मिलेगा पेट्रोल-डीजल

अब गाड़ियों के धुंए से नहीं होगा पॉल्यूशन, 1 अप्रैल 2018 से नई क्वालिटी का मिलेगा पेट्रोल-डीजल

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के स्तर को देखते हुए केंद्र सरकार ने लिया फैसला, 2019 से देश के सभी शहरों में बिकेगा बीएस- VI का पेट्रोल डीजल

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में पॉल्यूशन के बढ़ते स्तर को लेकर राज्य सरकार और केंद्र सरकार दोनों ही चिंतित हैं। जहां एक तरफ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात की तो वहीं केंद्र सरकार ने एक ऐलान कर दिया। गाड़ियों के धुंए से होने वाले प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। दरअसल, सरकार ने ऐलान किया है कि 1 अप्रैल 2018 से डीजल और पेट्रोल के मानकों में बदलाव किया जाएगा। सरकार के इस ऐलान के बाद संभव है कि दिल्ली में पॉल्यूशन में कमी आएगी।

BS-VI ईंधन की बिक्री अप्रैल 2018 से होगी शुरु
वाहनों के ईंधन से होने वाले प्रदूषण से रोकने के लिए सरकार ने पेट्रोल और डीजल के मानक में सुधार करने का फैसला किया है। सरकार ने तय किया है कि अप्रैल 2018 से बीएस VI ईंधन को दिल्ली में बेचा जाएगा। इसके मुताबिक पेट्रोलियम मंत्रालय ने फैसला लिया है कि बीएस -VI (BS-VI) ईंधन को दो साल पहले ही लाया जाएगा। सरकार के इस ऐलान के बाद दिल्ली के पेट्रोल पंप पर 1 अप्रैल 2018 से बीएस -VI मानक वाला पेट्रोल और डीजल मिलेगा।

2 साल पहले लाया जाएगा BS-VI ईंधन
हालांकि सरकार ने इससे पहले तय किया था कि बीएस -VI ईंधन को साल 2020 से लाया जाएगा, लेकिन दिल्ली में लगातार बढ़ रहे पॉल्यूशन के स्तर को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान के अनुसार मंत्रालय ने सरकारी तेल कंपनियों से बातचीत के बाद यह फैसला किया है। मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि दिल्ली में पिछले कुछ सालों में बढ़ी प्रदूषण और स्मॉग की समस्या के बाद यह फैसला लिया गया है. सरकार का मानना है कि ऐसा करने से प्रदूषण की समस्या में राहत मिलेगी।

2019 तक सभी शहरों में मिलेगा नई किस्म का पेट्रोल-डीजल
पेट्रोलयम मंत्रायल के इस फैसले से दिल्ली की सड़कों पर चलने वाले वाहनों के उत्‍सर्जन में कमी आने के साथ ही ईंधन की क्वालिटी में बदलाव आएगा। मंत्रालय के इस फैसले के 1 अप्रैल 2018 से दिल्ली में लागू करने के बाद सरकार की मंशा है कि 1 अप्रैल 2019 से इसे एनसीआर के अन्य शहरों में भी लागू किया जाएगा। पेट्रोलियम मंत्रालय ने तेल कंपनियों से भी 1 अप्रैल 2019 तक एनसीआर के अन्य शहरों में भी बीएस-VI ग्रेड के ईंधन को बेचने की संभावनाएं तलाशने के लिए कहा है।

Ad Block is Banned